अपना शहर चुनें

States

सियासी घमासान : PCC चीफ डोटासरा के बड़े बोल, कहा- हम कमल को पैरों के तले रौदेंगे तो वे क्या कहेंगे ?

डोटासरा ने कहा कि नगर निगम चुनाव में हम अगर एक इशारा भी करते तो दो निगम में भी बीजेपी के मेयर नहीं बनते.
डोटासरा ने कहा कि नगर निगम चुनाव में हम अगर एक इशारा भी करते तो दो निगम में भी बीजेपी के मेयर नहीं बनते.

पंचायती राज चुनाव की घड़ी नजदीक आते ही बीजेपी और कांग्रेस (BJP-Congress) एक दूसरे पर जबर्दस्त तरीके से हमलावर हो गई हैं. दोनों तरफ से एक दूसरे पर तल्ख टिप्पणियां (Rude comments) की जा रही है. इससे प्रदेश में सियासी पारा गरमाया हुआ है.

  • Share this:
जयपुर. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने बीजेपी की ओर से पंचायती राज चुनाव को लेकर प्रदेश की गहलोत सरकार (Gehlot Government) के खिलाफ जारी किये गये ब्लैक पेपर सहित कई मसलों को लेकर उस पर निशाना साधा है. डोटासरा ने बीजेपी (BJP) पर पलटवार करते हुये कहा कि ब्लैक पेपर में हाथ के निशान को उल्टा दिखाया है. हम कमल को पैरों के तले रौदेंगे तो वे क्या कहेंगे ?

डोटासरा ने कहा कि बीजेपी के नेता और सांसद एक पत्र इस पर भी जारी करें कि केन्द्र ने राजस्थान को क्या दिया. 25 सांसद होने के बावजूद राजस्थान के लिए वे क्या लाए. जीएसटी का पैसा केन्द्र दे नहीं रहा है. क्या यह उनकी उपलब्धि है ? वहीं 2 सीटों के उपचुनाव पर पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा कि दोनों सीटें कांग्रेस जीतेगी. हमारी पार्टी की पूरी तैयारी है. सरकार ने 2 साल में बेहतरीन काम किया है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भारी जोश है. नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव भी कांग्रेस भारी बहुमत से जीतेगी.

'6 महीने में गिर जाएगी गहलोत सरकार', BJP नेता के बयान पर राजस्‍थान में घमासान, कांग्रेस बोली- सरकार का बटन...

हम अगर एक इशारा भी करते तो दो निगम में भी बीजेपी के मेयर नहीं बनते


पंचायती राज चुनाव में बाड़ेबंदी पर डोटासरा ने कहा कि बीजेपी फील्ड में है कहां जो हम बाड़ेबंदी करेंगे. कांग्रेस कभी बाड़ेबंदी नहीं करती. डोटासरा ने कहा कि नगर निगम चुनाव में हम अगर एक इशारा भी करते तो दो निगम में भी बीजेपी के मेयर नहीं बनते. लेकिन निगम चुनाव में हमने अपनी विचारधारा नहीं छोड़ी. राजनीतिक नियुक्तियों पर डोटासरा ने कहा कि कार्यकर्ता मेहनत करके सरकार बनाता है. इसलिए उनका हक भी बनता है. कांग्रेस कार्यकर्ता का सम्मान होगा. राजनीतिक नियुक्तियां भी होंगी.

सबको अपनी बात कहने का अधिकार है
निजी स्कूलों के संघ द्वारा 10 करोड़ के मानहानि के दावे पर गोविंदसिंह डोटासरा ने कहा कि सबको अपनी बात कहने का अधिकार है. बकौल डोटासरा मैंने कहा था धरना प्रदर्शन छोड़ काम धंधा करो. इसमें कोई गलत नहीं है. निजी स्कूल चाहते क्या हैं. यह समझ से परे है. बिना स्कूल खुले पूरी फीस लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती. फिर भी उनकी कोई मांग है तो हम बातचीत को तैयार हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज