कोरोना पर BJP ने गहलोत सरकार को घेरा, PM केयर फंड से मिले 40 वेंटिलेटर निजी अस्पताल को देने का आरोप

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने उदयपुर के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना महामारी से हो रही मौतों पर गहरी चिंता जताई है. कटारिया ने कहा की काविड 19 संक्रमण शहरों से निकलकर गांवों तक पहुंच गया है.

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने उदयपुर के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना महामारी से हो रही मौतों पर गहरी चिंता जताई है. कटारिया ने कहा की काविड 19 संक्रमण शहरों से निकलकर गांवों तक पहुंच गया है.

राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने उदयपुर में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए चिकित्सा टीम भेजने का किया अनुरोध. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने वेंटिलेटर किराए पर देने का लगाया आरोप.

  • Share this:

जयपुर. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने उदयपुर के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना महामारी से हो रही मौतों पर गहरी चिंता जताई है. कटारिया ने कहा कि कोविड 19 संक्रमण शहरों से निकलकर गांवों तक पहुंच गया है. मरीजों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हो रही है, मगर सरकार द्वारा निजी वाहनों को बंद कर दिए जाने से मरीज न तो टेस्ट करा पा रहे हैं और न ही शहर में आकर दवाई ले पा रहे हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अपील की कि उदयपुर के गांवों में चिकित्सा विभाग की टीमों को भेजा जाए और डोर टू डोर सर्वे कराकर कोरोना पीड़ित मरीजों को जरूरत के हिसाब से भर्ती किया जाए या फिर उन्हें मौके पर ही दवाई दी जाए.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने गहलोत सरकार पर आरोप लगाया कि पीएम केयर फंड से आये वेन्टीलेटर्स सरकार ने निजी अस्पतालों को किराए पर दे दिए हैं. उन्होंने कहा कि भरतपुर के लिए पीएम केयर्स फंड से 40 वेंटिलेटर जिला अस्पताल को भेजे गए थे, इसे काम में लेने के बजाय वहां के प्रशासन ने यह वेंटीलेटर 2000 रुपये रोजाना के किराए पर निजी अस्पतालों को दे दिए. अब आम जनता से निजी अस्पताल रोजाना एक वेंटीलेटर का 35 से 40000 रुपये वसूल रहे हैं.

छबड़ा विधायक व पूर्व मंत्री प्रताप सिंह सिंघवी ने कोरोना महामारी के ईलाज हेतु 50.00 लाख रुपये की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने की अभिशंषा की है. उन्होंने कोरोना महामारी के उपचार हेतु छबड़ा छीपाबड़ौद क्षेत्र के निवासियों को कोई परेशानी न हो इसके लिए विधायक कोष से कोविड़ 19 वैक्सीन (रेमडेसिविर) के लिए 50.00 लाख की राशि स्वीकृत की है. सिंघवी ने बताया कि इस राशि में से 25 लाख रुपये छबड़ा तहसील के लिए व 25 लाख रुपये छीपाबडौद तहसील को कोविड 19 वैक्सीन (रेमडेसिविर) के लिए दिए हैं. सिंघवी ने कहा कि कोविड 19 वैक्सीन, रेमडेसिविर के लिए अगर जरूरत हुई तो जितनी आवश्यक होगी राशि दी जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज