Home /News /rajasthan /

कांग्रेस ने भर्तियां फिर से कोर्ट में अटकाने का काम किया- सुधांशु त्रिवेदी

कांग्रेस ने भर्तियां फिर से कोर्ट में अटकाने का काम किया- सुधांशु त्रिवेदी

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी.

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी.

अध्यापक भर्ती प्रक्रिया के मामले को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस को ही कटघरे में खड़ा किया है.

    राजस्थान में विधानसभा चुनाव के सियासी संग्राम में दोनों ही पार्टियां सत्ता पर काबिज होने के लिए हर प्रकार के दांव-पेच खेल रही हैं. भला इससे युवा मतदाता को कैसे दरकिनार किया जा सकता है. अध्यापक भर्ती प्रक्रिया के मामले को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस को ही कटघरे में खड़ा कर दिया. लंबित चल रही भर्तियों के मामले में सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस से सवाल किया कि कांग्रेस क्यों युवाओं के भविष्य के साथ खेल रही है? उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मामले में कोर्ट का क्लीयरेंस मिलने के बाद फिर से कोर्ट में अटकाने का काम किया है.

    ये भी पढ़ें- राहुल ने झालावाड़ की चुनावी सभा में सीएम से पीएम तक लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

    त्रिवेदी ने बताया कि फरवरी में ही मामले में प्रक्रिया पूरी हो गई थी, सिर्फ नियुक्ति पत्र देना बाकी बचा था. लेकिन उसे फिर से कांग्रेस द्वारा अटकाया गया. हालांकि त्रिवेदी को जब 2013 में कांग्रेस के समय की याद दिलाई गई तो उन्होंने दोनों मामलों के अलग करार दिया.

    बता दें कि अध्यापक भर्ती पर कांग्रेस के विधि विभाग के अध्यक्ष सुशील शर्मा ने 16 अक्टूबर को निर्वाचन विभाग को पत्र लिखा था और आचार संहिता के मद्देनजर नियुक्तियों पर रोक लगाने का आग्रह किया था. यही कारण है कि बीजेपी ने इसे भुनाने की कोशिश कर रही है. वहीं बीजेपी युवा मोर्चा भी अब इस मामलें को भुनाने के लिए जनता के बीच जाएगा.

    यहां पढ़ें- राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 से जुड़ी तमाम खबरें

    Tags: Assembly Election 2018, Rajasthan Assembly Election 2018, Rajasthan news, Sudhanshu Trivedi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर