लाइव टीवी

जेके लोन अस्पताल में 100 बच्चों की मौत सरकार पर कलंक- राजेंद्र राठौड़
Kota News in Hindi

Sudhir sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 2, 2020, 5:40 PM IST
जेके लोन अस्पताल में 100 बच्चों की मौत सरकार पर कलंक- राजेंद्र राठौड़
उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने गंभीर आरोप लगाए हैं.

अशोक गहलोत सरकार (ashok gehlot) पर कोटा (kota) स्थित जेके लोन अस्पताल (jk lone hospital) में हुई शिशुओं की मौत के मामले में पूर्व चिकित्सा मंत्री और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ (rajendra rathore) ने गंभीर आरोप लगाए हैं.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान के कोटा (kota) स्थित जेके लोन अस्पताल (jk lone hospital) में हुई शिशुओं की मौत के मामले में विपक्ष ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार (ashok gehlot) पर कड़ा हमला बोला है. पूर्व चिकित्सा मंत्री और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ (rajendra rathore) ने आरोप लगाया की राज्य में शिशु मृत्यु का दौर जारी है. इस एक माह के अंदर कोटा के जेके लोन अस्पताल में 100 शिशुओं की मृत्यु सरकार पर कलंक है. सरकार के बयान पर चिकित्सा मंत्री अनर्गल बयान में लगे हैं. राठौड़ ने कहा की मंत्रिमंडल की बैठक में नागरिक संशोधन कानून पर चिंता होती है पर मरने वाले शिशुओं की मृत्यु पर चिंता नहीं होती है.

उन्होंने कहा कि किसानों के खेत पर 9 जिलों में टिड्डी ने हमला कर रखा है, उस पर चिंता नहीं है. यह दुर्भाग्य है. राठौड़ ने कहा कि चिकित्सा मंत्री महोदय जेपी नड्डा के नाम से जिस रिपोर्ट का हवाला दे रहे हैं, मैं समझता हूं ऐसी कोई रिपोर्ट उनके पास नहीं है.

यह दुर्भाग्यपूर्ण है- राठौड़

राठौड़ ने बताया की केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है, उसमें स्पष्ट लिखा है कि उनके पास जो सॉफ्टवेयर है उसके आंकड़ों के अनुसार नवंबर के अंदर अकेले कोटा के अंदर 20.4 फीसदी बच्चों की मृत्यु होना और दिसंबर में इसका और बढ़ जाना और 540 उपकरणों में से 340 उपकरणों से ज्यादा खराब होना और जेके लोन अस्पताल की  टूटी खिड़कियों से इस ठंड में शिशुओं के गर्मी के लिए इंतजाम नहीं होना, वार्मर का खराब होना इनसब के कारण शिशुओं की मृत्यु हुई है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है.



सरकार बयान वीर बनी हुई है

राठौड़ ने कहा कि यह विडंबना है कि कोटा मैं शिशुओं की मृत्यु का दौर थमा नहीं, अलवर में एक शिशु की मौत हो गई. सरकार और चिकित्सा प्रबंधन की लापरवाही के कारण शॉर्ट सर्किट होने कारण एक शिशु झुलस कर मर जाए, इससे बड़ी बात हो नहीं सकती. यह सरकार पर कलंक है मौतों के बाद सरकार सावचेत होती, सुधारात्मक कदम उठाती तो समझ में आता. राठौड़ ने कहा कि सरकार बयान वीर बनी हुई है, विकट हालात के अंदर जहां प्रशासनिक तंत्र का काम नहीं करना और बच्चों की मौत सरकार पर कलंक है.

ये भी पढ़ें- 

बच्चों की मौत से सोनिया गांधी दुखी, CM गहलोत बोले- न हो राजनीति

अखबारों की सुर्खियां में छाया कोटा में बच्चों की मौत का मुद्दा,पढ़ें-पूरा मामला

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 2, 2020, 5:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर