अपना शहर चुनें

States

हनुमान बेनीवाल ने दी गठबंधन तोड़ने की धमकी तो BJP नेताओं ने किया पलटवार, कहा- आज ही संबंध तोड़ लें

बीजेपी नेताओं ने कहा कि बेनीवाल की तथाकथित राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी राज्य के मुट्ठीभर लोगों में वो भी जाति विशेष में सिमटी हुई है.
बीजेपी नेताओं ने कहा कि बेनीवाल की तथाकथित राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी राज्य के मुट्ठीभर लोगों में वो भी जाति विशेष में सिमटी हुई है.

Political controversy: नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) की ओर से कृषि कानूनों और पूर्व सीएम को लेकर दिये गये बयानों पर BJP के नेताओं ने उनको जवाब दिया है.

  • Share this:
जयपुर. केन्द्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों (Agricultural laws) और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) के खिलाफ आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) की ओर लगातार की जा रही बयानबाजी को लेकर कोटा संभाग के बीजेपी नेताओं ने उन पर सामूहिक रूप से जवाबी हमला बोला है. वहीं इन नेताओं ने पार्टी आलाकमान को पत्र भी लिखा है. छबड़ा विधायक प्रताप सिंह सिंघवी समेत पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत, प्रह्लाद गुंजल, विद्याशंकर नंदवाना और पूर्व जिला प्रमुख गोविंद सिंह परमार ने संयुक्त प्रेस बयान जारी कर नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल पर पलटवार किया है.

इन नेताओं ने बेनीवाल द्वारा बीजेपी से संबंध तोड़ने की धमकी पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा है कि वो कल क्या आज ही पार्टी से संबंध तोड़ लें. बीजेपी को उनकी कोई जरूरत नहीं है. बेनीवाल ही आगे बढ़कर बीजेपी के दरवाजे पर आये थे. बीजेपी आज देश में शक्तिशाली पार्टी बन चुकी है. इसका कोई भी राजनीतिक दल मुकाबला नहीं कर पा रहा है. बेनीवाल की तथाकथित राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी राज्य के मुट्ठीभर लोगों में वो भी जाति विशेष में सिमटी हुई है. वो आये दिन पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर कीचड़ उछालने से बाज आयें. वसुंधरा राजे आज भी राजस्थान की लोकप्रिय जननायिका होते हुए करोड़ों लोगों के दिलों पर राज कर रही हैं.

Rajasthan: MP हनुमान बेनीवाल की सहमति के बिना भेजे गए नागौर की 28 सड़कों के प्रस्ताव केंद्र ने किए रद्द

बेनीवाल घोर अनुशासनहीनता कर रहे हैं


बीजेपी के इन नेताओं ने गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को इस बारे में पत्र भी लिखा है. पत्र में कहा गया है कि बेनीवाल पार्टी को लगातार संबंध विच्छेद के लिए धमका रहे हैं और पार्टी अभी तक उनको क्यों बर्दाश्त कर रही है. यह समझ में नहीं आ रहा है ? राजस्थान में बीजेपी का बड़ा जनाधार है और केवल 1.5 लाख वोटों के अंतर से ही राज हमारे हाथ से चला गया. इन नेताओं ने कहा कि अभी हाल ही में सांसद बेनीवाल ने हमारी पार्टी को ललकारते हुए अपनी तथाकथित पार्टी के उम्मीदवार पंचायत चुनाव में उनके खिलाफ खड़े कर दिए. यह उनकी घोर अनुशासनहीनता है.

पार्टी की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा
इन नेताओं का कहना है कि बेनीवाल अभी भारत सरकार द्वारा लागू किए कृषि विधेयकों को वापस नहीं लेने पर फिर पार्टी से संबंध तोड़ने की धमकी दे रहे हैं. उनके दल के गिनती के विधायकों के चले जाने या आ जाने से पार्टी की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. हाईकमान कठोर निर्णय लेते हुए स्वयं पहल कर तत्काल बेनीवाल से संबंध विच्छेद कर ले तो पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं में अच्छा संदेश जायेगा. वैसे भी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का हाड़ौती, मेवाड़, वागड़, बृज प्रदेश, बीकाना और शेखावाटी संभागों में कोई वजूद नहीं है. यह केवल नागौर जिले तक ही सिमटी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज