लाइव टीवी

BJP प्रदेशाध्यक्ष ने बोले, मंडावा में वोट कांग्रेस को नहीं, रामनारायण चौधरी की विरासत को मिला

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: October 24, 2019, 5:08 PM IST
BJP प्रदेशाध्यक्ष ने बोले, मंडावा में वोट कांग्रेस को नहीं, रामनारायण चौधरी की विरासत को मिला
पूनिया ने कहा कि मंडावा में सियासी समीकरण कांग्रेस के हक में थे. वहां पार्टी और विचार का पक्ष कमजोर है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) के नतीजों पर बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (BJP state president Satish Poonia) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मंडावा (Mandawa) में पार्टी सिर्फ एक बार जीती है. वहां पर कांग्रेस (Congress) की जीत नहीं, बल्कि सहानूभूति की जीत है.

  • Share this:
जयपुर. विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) के नतीजों पर बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (BJP state president Satish Poonia) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मंडावा (Mandawa) में पार्टी सिर्फ एक बार जीती है. वहां पर कांग्रेस (Congress) की जीत नहीं, बल्कि सहानूभूति की जीत है. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने वहां खूब मेहनत की है, लेकिन परंपरागत रूप से कांग्रेसी सीट होने और रामनारायण चौधरी (Ramnarayan Chaudhary) की बेटी होने के कारण रीटा चौधरी (Rita Choudhary) ने चुनाव जीता है न कि कांग्रेस ने.

सियासी समीकरण कांग्रेस के हक में थे
पूनिया ने कहा कि मंडावा में सियासी समीकरण कांग्रेस के हक में थे. वहां पार्टी और विचार का पक्ष कमजोर है. पूनिया ने आरोप लगाया कि सरकार ने वहां सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया गया है. कर्मचारियों और अधिकारियों को प्रताड़ित किया गया. मंडावा क्षेत्र की बड़ी अल्पसंख्यक आबादी अरब देशों में नौकरी करती है. लेकिन वहां पर बड़ी संख्या में उनके नाम से मतदान होता है. चुनाव आयोग और सरकार उसे रोकने में नाकाम रही. पूनिया ने कहा कि यह बहुमत न तो सीएम अशोक गहलोत के पक्ष में है और ना ही सरकार के पक्ष में है. वहां के स्थानीय सियासी समीकरण और रामनारायण चौधरी की विरासत को वोट मिला है. रीटा चौधरी के प्रति सहानूभूति थी. यह वोट उसको मिला है.



खींवसर में आरएलपी और मंडावा में कांग्रेस जीती है
उल्लेखनीय है कि नागौर की खींवसर और झुंझुनूं की मंडावा विधानसभा पर हुए उपुचनाव में एक सीट कांग्रेस के खाते में गई हैं, वहीं दूसरी सीट बीजेपी-आरएलपी के गठबंधन के हिस्से में आई है. इस उपचुनाव में बीजेपी ने अपनी मंडावा सीट को गंवा दिया. वहीं खींसवर में आरएलपी ने अपनी सीट को बरकरार रखा है.

10 माह बाद ही मंडावा सीट का गंवाया दिया
Loading...

खींवसर में बीजेपी-आरएलपी गठंबधन के उम्मीदवार नारायण बेनीवाल ने अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी हरेन्द्र मिर्धा को 4,570 वोटों से हराया है. वहीं मंडावा में कांग्रेस प्रत्याशी रीटा चौधरी ने बीजेपी की सुशीला सींगड़ा को करीब 35,704 वोटों से हराया है. बीजेपी ने यहां गत विधानसभा चुनाव में पहली बार इस सीट पर कब्जा जमाया था, लेकिन 10 माह बाद ही उसे गंवा दिया.

विस उपचुनाव: BJP के हाथ से फिसली मंडावा सीट, खींवसर में RLP का कब्जा बरकरार

प्रदेश की 25,000 सहकारी समितियों और 144 कृषि मंडियों में जल्द होंगे चुनाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 4:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...