राजस्थान: BJP प्रदेश अध्यक्ष पूनिया का कांग्रेस पर बड़ा हमला, गहलोत सरकार को दी ये नसीहत

पूनिया बोले राज्य सरकार को पीएम केयर के नाम से ही चिढ़ है. केंद्र ऑक्सीजन दे रहा है पर राज्य सरकार के पास टैंकर ही नहीं है.

पूनिया बोले राज्य सरकार को पीएम केयर के नाम से ही चिढ़ है. केंद्र ऑक्सीजन दे रहा है पर राज्य सरकार के पास टैंकर ही नहीं है.

Politics on corona in rajasthan: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कोरोना प्रबंधन को लेकर गहलोत सरकार पर बड़ा हमला बोला है. पूनिया ने कहा कि गहलोत सरकार पूरी तरह पॉलिटिकल नेगेटिविटी में उलझी हुई है. उनको पॉलिटिकल पॉजिटिविटी की दरकार है.

  • Share this:

जयपुर. प्रदेश में कोरोना पर चल रही सियासत (Politics on corona) के बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने कांग्रेस पार्टी और गहलोत सरकार (Gehlot Government) पर जमकर हमला बोला है। पूनिया ने कोरोना काल में पार्टी के स्टैंड पर तल्ख टिप्पणियां की और जेपी नड्डा की ओर से सोनिया गांधी को लिखे गए पत्र का हवाला देते हुए कांग्रेस की खूब खिंचाई की. पूनिया ने कहा केंद्र को दोष दो और खुद को पाक साफ साबित करो. कांग्रेस (Congress) यही करती आई है. वह अपनी गलती पर पर्दा डालने में जुटी है. पूनिया ने कहा कि गहलोत सरकार पूरी तरह पॉलिटिकल नेगेटिविटी में उलझी हुई है. उनको पॉलिटिकल पॉजिटिविटी की दरकार है.

पूनिया ने गहलोत सरकार पर हमला करते हुये कहा कि सरकार ने ग्लोबल टेंडर के बारे में सोचने में ही काफी वक्त गुजार दिया. कब टेंडर होंगे. कब वेक्सीन आएगी अभी तय नहीं है. सरकार 1 साल में ऑक्सीजन प्लांट नहीं लगा पाई. 1500 वेंटिलेटर्स राजस्थान को मिले थे केंद्र से. इनमें से 1475 इंस्टाल करने का जवाब भिजवाया गया. स्वास्थ्य मंत्री ने इसे लेकर गैर जिम्मेदार बयान दिये. वेंटिलेटर्स निजी अस्पतालों को सौंप दिए गये.

पीएम केयर के नाम से ही चिढ़ है सरकार को

पूनिया बोले राज्य सरकार को पीएम केयर के नाम से ही चिढ़ है. केंद्र ऑक्सीजन दे रहा है पर राज्य सरकार के पास टैंकर नहीं है. प्रदेश में अपनी नाकामी केंद्र पर मढना कांग्रेस की फितरत है. सरकार हेल्थ बजट का पूरा इस्तेमाल ही नहीं कर पाई. सरकार और स्वास्थ्य मंत्री एक विधानसभा उपचुनाव तक सीमित रहे.

Youtube Video

सरकार सियासत ना करे, ग्रामीण क्षेत्रों पर फोकस करे

पूनिया ने कहा कि गहलोत सरकार सियासत ना करके ग्रामीण क्षेत्रों पर फोकस करे. सीएचसी का इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत किया जाए. पीएचसी पर भी ध्यान दें ताकि लोगों को बचाया जा सके. विपक्ष देश प्रदेश की जनता का मनोबल ना तोड़े और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र सरकार का सहयोग करें. पूनिया ने आरोप लगाया कि जहां-जहां भी कांग्रेस की सरकारें हैं वहां-वहां उनका प्रबंधन कमजोर है. नौकरशाही बेलगाम है और सरकार सही समय पर निर्णय नहीं ले पाती है.



सरकार रेमडेसिविर इंजेक्शन तक की व्यवस्था नहीं कर पाई

पूनिया ने आरोपों की झड़ी लगाते हुये कहा कि सरकार रेमडेसिविर इंजेक्शन तक की व्यवस्था ठीक से नहीं कर पा रही है. मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना का लाभ भी लोगों को नहीं मिल पा रहा है. बड़े अस्पतालों ने चिरंजीवी योजना को अभी तक मान्यता नहीं दी है. केंद्र सरकार 17 करोड़ लोगों को अब तक वैक्सीन लगवा चुकी है. गहलोत सरकार की अंदरुनी लड़ाई से भी कोरोना के खिलाफ जंग कमजोर हुई है.

पिछले साल केंद्र सरकार ने सही समय पर लॉकडाउन लगाया था

पूनिया ने कहा कि पिछले साल केंद्र सरकार ने सही समय पर लॉकडाउन लगाया था. 40000 करोड़ का नुकसान झेला लेकिन लोगों की जानें नहीं जाने दी. लेकिन इस बार न तो राहुल गांधी लॉकडाउन के पक्ष में थे और न ही अशोक गहलोत. इसकी वजह से आज यह नौबत आई है. सरकार लॉकडाउन का नामकरण तक ठीक से तय नहीं कर पाई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज