लाइव टीवी

BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की बढ़ाई जाएगी सुरक्षा ! PHQ और गृह विभाग ने की मिटिंग

Rakesh Gusai | News18 Rajasthan
Updated: November 15, 2019, 1:50 PM IST
BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की बढ़ाई जाएगी सुरक्षा ! PHQ और गृह विभाग ने की मिटिंग
सुरक्षा बढ़ाने के बाद 24 घंटे उनकी सुरक्षा के लिए पीएसओ उनके साथ रहेगा. इसके साथ ही उनके कार्यालय और उनके घर की भी सुरक्षा बढ़ाई जाएगी.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (BJP state president Satish Poonia) की आने वाले कुछ दिनों में सुरक्षा बढ़ाई (Increased security) जा सकती है. सतीश पूनिया को 3 से अधिक पीएसओ (PSO) देने पर विचार किया जा रहा है. मौजूदा समय में उनके पास एक पीएसओ है.

  • Share this:
जयपुर. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (BJP state president Satish Poonia) की आने वाले कुछ दिनों में सुरक्षा बढ़ाई (Increased security) जा सकती है. पिछले कुछ समय से सतीश पूनिया के प्रदेश में हो रहे मूवमेंट (Movement) और इंटेलीजेंस की रिपोर्ट (Intelligence report) के बाद उनकी सुरक्षा पर पुलिस मुख्यालय (Police headquarter) और गृह विभाग (Home department) मीटिंग कर चुका है. सतीश पूनिया आमेर से विधायक (MLA from Amer) हैं. पूनिया करीब 36 साल से राजनीति में है. सभी एंगल से सोचने के बाद अधिकारियों ने उनकी सुरक्षा बढ़ाने पर विचार किया है.

3 से अधिक पीएसओ देने पर विचार किया जा रहा है
जानकार सूत्रों की मानें तो बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया को 3 से अधिक पीएसओ देने पर विचार किया जा रहा है. मौजूदा समय में उनके पास एक पीएसओ है. सुरक्षा बढ़ाने के बाद 24 घंटे उनकी सुरक्षा के लिए पीएसओ उनके साथ रहेगा. इसके साथ ही उनके कार्यालय और उनके घर की भी सुरक्षा बढ़ाई जाएगी. गत 24 जून को मदनलाल सैनी के निधन के बाद राजस्थान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का पद रिक्त हुआ था. उसके करीब ढाई माह बाद पूनिया को प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया गया था.

बीजेपी के 14वें प्रदेश अध्यक्ष बने हैं

प्रदेश बीजेपी के 14वें अध्यक्ष बने वरिष्ठ नेता सतीश पूनिया काफी लंबे समय से संगठन में सक्रिय हैं. पूनिया इससे पहले संगठन में विभिन्न अहम जिम्मेदारी निभा चुके हैं. चूरू जिले के मूल निवासी सतीश पूनिया का जन्म 20 दिसंबर, 1964 में हुआ. उनके पिता सुभाषचन्द्र पूनिया चूरू की राजगढ़ पंचायत समिति के प्रधान रह चुके हैं.

लो-प्रोफाइल जाट नेता माना जाता है पूनिया को
पूनिया बीएससी, एमएससी और लॉ ग्रेजुएट हैं. उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधी भी प्राप्त की है. सतीश पूनिया वर्ष 2004 से 2014 तक लगातार 4 बार पार्टी संगठन में प्रदेश महामंत्री रहे. वे 2011 में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की जन चेतना यात्रा के राजस्थान में संयोजक भी रह चुके हैं. पूनिया को लो-प्रोफाइल जाट नेता माना जाता है.
Loading...

प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ियों को मिलेगी सरकारी नौकरी, कैबिनेट ने दी मंजूरी

जल्द होंगे सहकारी समितियों के चुनाव, सीएम गहलोत ने दिए निर्देश, तैयारियां शुरू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 1:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...