राजस्थान की चर्चित सियासी मुलाकात: सचिन पायलट से मिले विधायक हेमाराम, बोले- इस्‍तीफे पर अडिग

पायलट से मुलाकात के बाद विधायक हेमाराम ने कहा कि आलाकमान को वादे पूरे करने चाहिए लेकिन हो नहीं रहे हैं.

पायलट से मुलाकात के बाद विधायक हेमाराम ने कहा कि आलाकमान को वादे पूरे करने चाहिए लेकिन हो नहीं रहे हैं.

Big political meeting in Rajasthan: पिछले दिनों विधायक पद से इस्तीफा देकर चर्चा में आये कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी (MLA hemaram chaudhary) ने पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) से उनके आवास पर मुलाकात की.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान की सत्ता के गलियारों में हो रही हलचल के बीच शुक्रवार को कांग्रेस (Congress) के दो बड़े नेताओं की मुलाकात की बड़ी चर्चा हो रही है. हाल में विधायक पद से इस्तीफा देकर राजस्थान में राजनीतिक संकट के संकेत देने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं विधायक हेमाराम चौधरी (MLA hemaram chaudhary) ने पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) से उनके आवास पर मुलाकात की. हेमाराम चौधरी पायलट खेमे से जुड़े हैं और लंबे समय से अपनी ही सरकार से नाराज चल रहे हैं.

मुलाकात के बाद विधायक हेमाराम चौधरी ने पूरी बातचीत का तो खुलासा नहीं किया, लेकिन इतना जरूर कहा कि आलाकमान को वादे पूरे करने चाहिए. हेमाराम ने कहा कि पायलट से मुलाकात होती रहती है. इस्तीफे को वापस लेने पर उनकी सचिन पायलट से कोई चर्चा नहीं हुई है. बकौल हेमाराम इस्तीफा मैंने पायलट से पूछ कर नहीं दिया. यह मेरा निजी फैसला है. अभी मैं अपने फैसले पर अडिग हूं.

स्पीकर बुलाएंगे तो अभी मिलने चला जाऊंगा

हेमाराम ने कहा कि इस्तीफे पर फैसला मुझे करना है कि मेरी आत्मा क्या कहती है? आगे की बात स्पीकर से मुलाकात के बाद बताऊंगा. स्पीकर डॉ. सीपी जोशी से मुलाकात के मसले पर हेमाराम ने कहा कि मैंने उनके सचिव से समय मांगा है. अभी उन्होंने समय नहीं दिया है. वे जब भी कहेंगे मैं उनसे मुलाकात करूंगा. स्पीकर बुलाएंगे तो अभी मिलने चला जाऊंगा.
हेमाराम चौधरी बड़ा जाट चेहरा

उल्लेखनीय है कि पश्चिमी राजस्थान में हेमाराम चौधरी पार्टी का बड़ा जाट चेहरा हैं. वह 6 बार विधायक निर्वाचित हो चुके हैं. वह बाड़मेर के गुडामालानी विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते रहे हैं. वे पूर्ववर्ती गहलोत सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे हैं, लेकिन इस बार पार्टी ने हेमाराम चौधरी को दरकिनार उनके ही जिले के दूसरे जाट नेता हरीश चौधरी को मंत्री बनाया है. गत वर्ष राजस्थान में हुए सियासी संकट के समय हेमाराम मजबूती से पायलट के साथ खड़े थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज