होम /न्यूज /राजस्थान /Rajasthan: सरकारी पानी में रिश्वत की सेंध, PHED के चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल को 10 लाख लेते दबोचा

Rajasthan: सरकारी पानी में रिश्वत की सेंध, PHED के चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल को 10 लाख लेते दबोचा

जयपुर में रिश्वत केस में एसीबी ने चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल, दलाल और पीएचईडी के दो कर्मचारियों को पकड़ा है.

जयपुर में रिश्वत केस में एसीबी ने चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल, दलाल और पीएचईडी के दो कर्मचारियों को पकड़ा है.

Big network of bribery exposed in Jaipur: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बड़ी कार्रवाई करते हुये जयपुर पीएचईडी के चीफ इंजी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

एसीबी की इस कार्रवाई में कोई शिकायतकर्ता नहीं था
एसीबी ने चीफ इंजीनियर समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है

 विष्णु शर्मा.

जयपुर. राजस्थान के जयपुर जिले के ग्रामीण इलाकों में पेयजल सप्लाई को लेकर रिश्वतखोरी (Bribery) के बड़े नेटवर्क का खुलासा हुआ है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने इस रिश्वतकांड में लिप्त पीएचईडी अर्बन के चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल (Chief Engineer Manish Beniwal) और उसके दलाल को 10 लाख रुपये की रिश्वत लेते देते रंगे हाथों दबोचा है. उसके बाद सोमवार देर रात को जलदाय विभाग के दो और कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें एक कर्मचारी के घर से भी एसीबी ने 6 लाख रुपये बरामद किए हैं. ब्यूरो की टीम पीएचईडी में फैली भ्रष्टाचार की लाइनों को क्लियर करने में जुटी है.

एसीबी डीजी बीएल सोनी ने बताया कि ट्रेप की यह कार्रवाई सोमवार देर रात को राजधानी जयपुर के मालवीय नगर में प्रधान मार्ग पर पीएचईडी विभाग के आलीशान सरकारी क्वार्टर में रहने वाले चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल के ठिकाने पर की गई. बेनीवाल वहां पर वह पानी की सप्लाई करने वाली कंपनी आरएससी इंफोटेक डवलपर्स के ठेकेदार के असिस्टेंट कजोड़मल तिवाड़ी से 10 लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े गया. कजोड़मल की बेनीवाल के लिए दलाल का काम करता है.

3 महीने से मोबाइल सर्विलांस पर लेकर निगरानी कर रही थी एसीबी
एसीबी डीजी बीएल सोनी ने बताया कि रिश्वत के इस खेल में कोई शिकायतकर्ता नहीं था. जयपुर के हरमाड़ा, बढारना और आसपास के इलाकों में पानी की सप्लाई करने वाली कंपनी अपनी मर्जी से रिश्वत की मोटी रकम पीएचईडी के उच्चाधिकारियों तक हर माह पहुंचा रही थी. ब्यूरो के पास इसकी सूचना थी। इसलिए पिछले 3 महीने से एसीबी ने आरोपियों के मोबाइल फोन सर्विलांस पर लेकर इनकी निगरानी की गई.

सोमवार को रकम देने का पता चलते ही जा धमकी एसीबी
सोमवार को एसीबी को पता चला कि कंपनी का ठेकेदार कजोड़मल रिश्वत की 10 लाख रुपए की रकम लेकर चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल के घर जाएगा. तब एसीबी ने मौके पर पहुंचकर ट्रेप की कार्रवाई की. चीफ इंजीनियर और दलाल को ट्रेप करने के बाद एसीबी की अन्य टीमों ने जयपुर में रिश्वत के इस खेल से जुड़े तीन चार और ठिकानों पर छापामारी की. इसमें देर रात 12 बजे तक पीएचईडी ग्रामीण कार्यालय में कनिष्ठ सहायक शफीक व विनोद को पकड़ा गया.

शफीक के घर मिले करीब 6 लाख रुपये
शफीक के घर से एसीबी ने करीब 6 लाख रुपये बरामद किए हैं. वह इस रकम के बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दे सका. शफीक जयपुर में ही खोनागोरियान इलाके में रहता है. इसके बाद एसीबी ने संजय नगर पानीपेच में रहने वाले कनिष्ठ सहायक विनोद को भी धरदबोचा. उसके घर से भी रकम बरामद हुई है. एसीबी के एडीजी दिनेश एमएन के निर्देशन में एडिशनल एसपी बजरंग सिंह शेखावत, डीएसपी परमेश्वरलाल और इंस्पेक्टर रघुवीरशरण शर्मा की टीम ने यह कार्रवाई की.

Tags: Anti corruption bureau, Crime News, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें