• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने राजस्थान के इस युवा के जरिये दी दिवाली की बधाई

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने राजस्थान के इस युवा के जरिये दी दिवाली की बधाई

रणजीत सिंह प्रदेश के पाली जिले के गांव धुंधला के रहने वाले हैं. वे 2015 से ब्रुनेल यूनिवर्सिटी लंदन में लॉ ग्रेजुएशन कर रहे हैं.

रणजीत सिंह प्रदेश के पाली जिले के गांव धुंधला के रहने वाले हैं. वे 2015 से ब्रुनेल यूनिवर्सिटी लंदन में लॉ ग्रेजुएशन कर रहे हैं.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British Prime Minister Boris Johnson) ने भी सभी भारतीयों (All Indians) को दिवाली की बधाई (Wishes) दी है. जॉनसन ने ब्रुनेल यूनिवर्सिटी (Brunel university) के छात्रसंघ अध्यक्ष रणजीत सिंह राठौड़ (Ranjit Singh Rathore) के जरिये ये बधाई दी.

  • Share this:
    जयपुर. दिवाली (Diwali) को लेकर चारों तरफ उत्साह का माहौल है. एक दूसरे को शुभकामनाएं देने का दौर चल रहा है. इस बीच ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British Prime Minister Boris Johnson) ने भी सभी भारतीयों (All Indians) को दिवाली की बधाई (Wishes) दी है. जॉनसन ने ब्रुनेल यूनिवर्सिटी (Brunel university) के छात्रसंघ अध्यक्ष रणजीत सिंह राठौड़ (Ranjit Singh Rathore) के जरिये ये बधाई दी.

    पाली जिले के गांव धुंधला के रहने वाले हैं रणजीत
    रणजीत राजस्थान के पाली जिले के रहने वाले हैं. वे लगातार चौथी बार ब्रिटेन की ब्रुनेल यूनिवर्सिटी में छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए हैं. ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सभी भारतीयों को 'हैप्पी दिवाली' कहा. रणजीत ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री की इस बधाई को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. रणजीत प्रदेश के पाली जिले के गांव धुंधला के रहने वाले हैं. वे 2015 से ब्रुनेल यूनिवर्सिटी लंदन में लॉ ग्रेजुएशन कर रहे हैं.



    गत 4 साल से विद्यार्थियों की पहली पसंद बने हुए हैं
    करीब 100 देशों के 15-16 हजार छात्रों वाले इस विश्वविद्यालय में रणजीत गत 4 साल से विद्यार्थियों की पहली पसंद बने हुए हैं. यहां पढ़ने वालों में पाकिस्तान, कनाडा, रशिया और इंग्लैंड समेत कई देशों के छात्र शामिल हैं.

    पिता बेटे की सफलता का श्रेय भारतीय संस्कारों को देते हैं
    रणजीत सिंह के पिता दिलीप सिंह राजधानी जयपुर में ही रहकर अपना व्यवसाय करते हैं. रणजीत के पिता उनकी उपलब्धियों का पूरा श्रेय उनकी व्यवहार कुशलता और भारतीय संस्कारों को देते हैं. रणजीत की विदेशी छात्र राजनीति में सफलता से उनके परिजन और ग्रामीण फूले नहीं समाते हैं.

    स्वदेश लौटकर यहां सेवा करना चाहते हैं रणजीत
    रणजीत खुद दुनिया में छात्र राजनीति में परचम फहराने के बाद स्वदेश लौटकर यहां सेवा करना चाहते हैं. रणजीत सिंह का भी मानना है कि मानवता और प्रकृति से बड़ा कोई धर्म नहीं है. धर्म जाति से अलग हमें अपनी सोच बड़ी रखनी चाहिए.

    राजस्थान की ट्रांसपोर्ट यूनियनों का फैसला, कोई भी ट्रक कश्मीर नहीं भेजेंगे

    कश्मीर में मारे गए ट्रक ड्राइवर और हेल्पर के शव घरवालों ने लेने से किया इनकार

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज