Rajasthan: BSP ने 6 विधायकों को फिर जारी किया व्हिप, कांग्रेस के खिलाफ वोट करने की हिदायत
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: BSP ने 6 विधायकों को फिर जारी किया व्हिप, कांग्रेस के खिलाफ वोट करने की हिदायत
विधानसभा सत्र से पहले पार्टी ने फिर विधायकों को सख्त निर्देश दिए हैं. (File)

बसपा (BSP) राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा व्हिप (Whip) जारी कर विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने को गलत ठहराया है. बसपा ने विधानसभा से ठीक एक दिन पहले व्हिप जारी कर विधायकों को कांग्रेस (Congress) के खिलाफ वोट करने की हिदायत दी है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Assemby Session) के बहुप्रतीक्षित सत्र की शुरुआत शुक्रवार से होने जा रही है. सरकार इस सत्र के दौरान विश्वास मत भी लेकर आएगी. लेकिन सत्र से पहले बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने कांग्रेस में शामिल हुए 6 विधायकों के लिए एक बार फिर से व्हिप जारी कर दिया है. व्हिप के जरिए विधायकों को हिदायत दी गई है कि वे सदन में विश्वास मत के दौरान और दूसरी कार्यवाही में कांग्रेस (Congress) पार्टी के खिलाफ अपना वोट दें. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा द्वारा जारी इस व्हिप में एक बार फिर से विलय को गलत बताया है. साथ ही विधायकों को चेतावनी दी गई है कि अगर उन्होंने पार्टी के निर्देशों का उल्लंघन किया तो कार्रवाई होगीय. विधायकों को संविधान की दसवीं अनुसूची के पैरा 2 (1)(B) के तहत अयोग्यता की कार्यवाही की चेतावनी दी गई है. गौरतलब है कि पार्टी पहले भी इसी तरह का व्हिप जारी कर चुकी है और अब सत्र से एक दिन पहले फिर से व्हिप जारी किया गया है.

व्हिप की संवैधानिकता पर सवाल

बसपा द्वारा जारी इस व्हिप की संवैधानिकता पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं. कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि पार्टी पदाधिकारियों द्वारा व्हिप जारी नहीं की जा सकती है. सदन में पार्टी का नेता या सचेतक ही व्हिप जारी कर सकता है. क्योंकि बसपा के सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं, लिहाजा बसपा का सदन में कोई नेता या सचेतक नहीं है. विशेषज्ञों के मुताबिक इऩ हालातों में यह व्हिप कोई मायने नहीं रखती है. उधर, बसपा का कहना है कि पार्टी की इकाई का इस तरह से विलय नहीं किया जा सकता है, लिहाजा यह विलय अवैध है.



ये भी पढ़ें: Rajasthan: विधानसभा में कल पेश नहीं होगा विश्वास प्रस्ताव, 8 अध्यादेश और COVID-19 पर होगी चर्चा
कोर्ट में विचाराधीन मामला

बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय का मामला अभी हाईकोर्ट में कानूनी पेचीदगियों में उलझा हुआ है. बसपा के साथ ही भाजपा विधायक मदन दिलावर की इस सम्बन्ध में याचिकाओं को लेकर सुनवाई और बहस का दौर जारी है. कोर्ट को इस मामले पर फैसला देना है कि विलय वैध है या नहीं. हालांकि अभी तक कोर्ट ने बसपा और मदन दिलावर की याचिकाओं पर स्टे भी नहीं दिया है. लिहाजा इन विधायकों के सदन की कार्यवाही में भाग लेने पर रोक नहीं है. ये विधायक राज्यसभा चुनाव में भी कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान कर चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज