बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय: राजस्थान हाईकोर्ट सोमवार को सुनाएगा फैसला
Jaipur News in Hindi

बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय: राजस्थान हाईकोर्ट सोमवार को सुनाएगा फैसला
समय की कमी के कारण आज पूरा फैसला नहीं पढ़ा जा सका. अब हाईकोर्ट सोमवार को फैसला सुनाएगा.

राजस्थान उच्च न्यायालय (Rajasthan High Court) के एकल पीठ ने शुक्रवार को अपना फैसला पढ़ना शुरू किया. पर समय की कमी के कारण पूरा फैसला नहीं सुनाया जा सका. यह सोमवार को सुनाया जाएगा.

  • Share this:
जयपुर. भाजपा (BJP) विधायक मदन दिलावर और बहुजन समाज पार्टी (BSP) की ओर से दायर छह विधायकों के कांग्रेस (Congress) में विलय को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर राजस्थान उच्च न्यायालय (Rajasthan High Court) सोमवार को अपना फैसला सुनाएगा. दलीलें सुनने के बाद न्यायमूर्ति महेंद्र कुमार गोयल के एकल पीठ ने शुक्रवार को अपना फैसला पढ़ना शुरू किया. लेकिन समय की कमी के कारण पूरा फैसला नहीं सुनाया जा सका. यह सोमवार को सुनाया जाएगा.

इन्हें भी पढ़ें :

सचिन पायलट बोले- आखिरी सांस तक मैं राजस्थान के लिए समर्पित हूं



गहलोत ने साबित किया बहुमत, विश्वास मत जीता, 21 अगस्त तक सदन स्थगित
निर्वाचन आयोग का बड़ा निर्णय, अगस्त में नहीं होंगे 129 स्थानीय निकायों के चुनाव

याचिकाकर्ताओं ने बसपा के छह विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौती दी है और विधानसभा अध्यक्ष द्वारा पारित आदेश के अमल पर रोक लगाने की मांग की है. कांग्रेस के साथ जाने वाले विधायकों में संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेड़िया, लखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुढ़ा शामिल हैं. इन सभी छह विधायकों ने वर्ष 2018 का विधानसभा चुनाव बसपा के चुनाव चिह्न पर लड़ा और जीता था. लेकिन सितंबर 2019 में ये पाला बदलकर कांग्रेस के साथ चले गए. विधायकों ने 16 सितंबर 2019 को विलय के बाबत एक आवेदन दाखिल किया था और विधानसभा अध्यक्ष ने 18 सितंबर को आदेश जारी किया था.

भाजपा विधायक मदन दिलावर ने इस साल मार्च में विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष याचिका दायर कर विलय को चुनौती दी थी, जिसे 24 जुलाई को खारिज कर दिया गया था. इसके बाद, दिलावर ने फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी. इसी तरह, बसपा ने भी अलग से याचिका दायर कर विलय को चुनौती दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज