Rajasthan Budget 2021: बीजेपी ने योजनाओं की नकल का लगाया आरोप, वसुंधरा राजे ने पूछा- 2 साल तक क्या किया?

गहलोत सरकार के बजट पर वसुंधरा राजे का बयान.

गहलोत सरकार के बजट पर वसुंधरा राजे का बयान.

Jaipur News: पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि बजट के जरिए झूठी वाहवाही लूटने की कोशिश में हैं सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) . 

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बुधवार को राज्य का बजट पेश किया. सत्तारूढ़ पार्टी के सदस्यों ने इस बजट की तारीफ में कसीदे पढ़े तो विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इस बजट को निराशाजनक बताया. पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने पूछा कि 2 साल तक क्या कर रहे थे? मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पेश किए गए बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) ने कहा कि प्रदेश के इस बजट में सरकार के वादे तो दिखाई देते हैं, पर इरादे नहीं. राजे ने कहा कि इस बजट में सरकार ने जिन प्रमुख योजनाओं की घोषणा की है उनमें से अधिकतर हमारी है. बजट में हमारे समय की कई योजनाएं तो ऐसी है, जिनका नाम बदलकर नए रूप में जनता के सामने परोसने का प्रयास किया गया है.

वसुंधरा राजे ने कहा कि आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना हमारी भामाशाह और केंद्र सरकार की आयुष्यमान योजना का ही बदला हुआ स्वरूप है. उन्होंने कहा कि हमने किसानों के बिजली बिल के माफ किए. किसानों को समर्पित हमारी इस योजना को इस सरकार ने बंद कर दिया था, लेकिन जब किसानों ने विरोध किया तो बजट में शामिल करना पड़ा.

बजट में झूठी वाहवाही लूटने का प्रयास- वसुंधरा

वसुंधरा राजे ने कहा कि जल जीवन मिशन और  प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना तो केंद्र सरकार की है. इनको भी बजट में सरकार ने अपनी तरफ से पेश कर झूठी वाहवाही लूटने का प्रयास किया है. पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने कहा कि हमारी सरकार की 13 जिलों के लिए जीवनदायिनी साबित होने वाली योजना ईआरसीपी और भामाशाह स्टेट डाटा सेंटर की मुख्यमंत्री ने तारीफ की है.
ये भी पढ़ें: नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, सड़क दुर्घटना होने पर वाहनों का रद्द होगा रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस भी होगा कैंसिल

राजे ने कहा चलो देर आयद दुरुस्त आए. योजनाओं की प्रशंसा करना अच्छी परंपरा है, पर जनता जानना चाहती है कि 2 साल तक इन योजनाओं पर ध्यान क्यों नहीं दिया गया?  अगर पहले ही इन पर ध्यान दिया होता तो समय पर जनता को ज्यादा फायदा मिल जाता. उन्होंने कहा कि लोगों को उम्मीद थी कि पेट्रोल-डीजल से वेट घटाकर सरकार जनता को बजट में राहत देगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज