अपना शहर चुनें

States

Bye-Bye 2020: केंद्रीय योजनाओं को जमीन पर लाने में गहलोत सरकार अव्‍वल, हासिल किए डेढ़ दर्जन से ज्यादा राष्ट्रीय अवॉर्ड

राज्य सरकार ने केन्द्र और राज्य के संबंधों का उत्कृष्ट उदाहरण देकर संघवाद को बढ़ावा दिया है.
राज्य सरकार ने केन्द्र और राज्य के संबंधों का उत्कृष्ट उदाहरण देकर संघवाद को बढ़ावा दिया है.

Bye-Bye 2020: इस साल गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने तमाम विरोधाभासों के बीच केन्द्र सरकार की कई योजनाओं में बेहतरीन काम कर करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा राष्ट्रीय अवॉर्ड (National award) अपने नाम किये हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने इस साल कई मामलों में मिसाल कायम की है. इस वर्ष राजस्थान सरकार को राष्ट्रीय स्तर पर कई अवॉर्ड (National award) मिले हैं. राज्य सरकार को 'स्वच्छ भारत मिशन' से लेकर 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए अवार्ड से नवाजा गया है. वहीं, गहलोत सरकार ने केन्द्र सरकार की कई योजनाओं को धरातल पर उतारने में काफी सक्रियता दिखायी है. इनके परिणाम स्वरूप राज्य सरकार ने इस वर्ष करीब डेढ़ दर्जन राष्ट्रीय अवॉर्ड प्राप्त किये हैं.

राजस्थान सरकार के कोरोना महामारी से निपटने के लिए उठाये गये कदमों को भी केंद्र सरकार से सराहना मिली है. वहीं केन्द्र सरकार की कई योजनाओं को जमीन पर उतारने पर राष्ट्रीय स्तर के एक दर्जन से अधिक अवार्ड राज्य की झोली में आए. राज्य सरकार ने केन्द्र और राज्य के संबंधों का उत्कृष्ट उदाहरण देकर संघवाद को बढ़ावा दिया है. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने हाल ही में अपनी दूसरी सालगिरह भी कोरोना काल के चलते बेहद सादगी से मनाई है.

जोधपुर: 18 साल बाद बाल विवाह की बेड़ियों से मुक्त हुई बालिका वधू नींबू, कोर्ट ने शादी को शून्य घोषित किया

राजस्थान को ये प्रमुख अवॉर्ड मिले



- केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय से राजस्थान को मोस्ट प्रोएक्टिव स्टेट का अवॉर्ड मिला.
- राष्ट्रीय जल पुरस्कार के अंतर्गत उत्तम राज्य सामान्य श्रेणी में राजस्थान को मिला सम्मान.
- राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण को सर्वश्रेष्ठ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित किया गया.
- नेशनल वाटर अवार्ड के तहत उदयपुर जिले को जल सरंक्षण के लिए देशभर में द्वितीय पुरस्कार से नवाजा गया.
- आशान्वित जिलों में बारां जिले ने देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त किया.
- सामुदायिक शौचालय निर्माण में देश में राजस्थान तृतीय पुरस्कार से सम्मानित हुआ.
- पीएम आवास योजना में सर्वाधिक आवास पूर्ण करने के लिए प्रदेश को प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया.
- बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए श्रेष्ठ राज्य के रूप में सम्मानित हुआ.
- इस योजना में जोधपुर और नागौर को श्रेष्ठ जिला श्रेणी में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
- पोषण अभियान की गतिविधियों के लिए समग्र उत्कृष्ठता श्रेणी में राज्य को पहला पुरस्कार मिला.
- इंदिरा गांधी नहरी तंत्र में माइक्रो सिंचाई पद्धति के कार्यों को राष्ट्रीय स्तर पर पहला स्थान मिला.
- PHED एवं राज्य सेंटर ऑफ एक्सीलेन्स इन वाटर रिसोर्स मैनेजमेंट को एप्रिशियेसन अवॉर्ड प्राप्त हुआ. यह साउथ आस्ट्रेलिया सरकार की ओर से सीआईआई से दिया गया.
- केन्द्रीय पंचायती राज मंत्रालय ने प्रदेश की एक जिला परिषद को बेहतरीन प्रबंधन पर 50 लाख देकर सम्मानित किया.
- इसके तहत 2 पंचायत समितियों को 25-25 लाख रुपए और 5 ग्राम पंचायतों को 12-12 लाख रुपए से सम्मानित किया गया.

टेबल के उस पार बैठे व्यक्ति को मिला लाभ
केन्द्र और राज्य सरकार की मंशा रहती है कि लोक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ टेबल के पार बैठे उस व्यक्ति को जरुर मिले जो लाभान्वित होने के लिए दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है. गहलोत सरकार ने बेलगाम नौकरशाही पर शिकंजा कसते हुए अफसर की टेबल के उस पार बैठे व्यक्ति के हैप्पीनेस इंडेक्स का पूरा ध्यान रखा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज