Assembly Banner 2021

चुनावी साल में किसान, होमगार्ड, कर्मचारियों पर वसुंधरा सरकार मेहरबान, दी ये बड़ी सौगात

सीएम वसुंधरा राजे (File Photo)

सीएम वसुंधरा राजे (File Photo)

चिकित्सा सेवा नियमों में भी संशोधन को कैबिनेट ने मंजूरी दी है. अब नर्सिंग अधीक्षक के प्रथम और द्वितीय लेवल की जगह एक ही पद होगा.

  • Share this:
राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने बुधवार को कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसलों पर मुहर लगाते हुए चुनावी साल में प्रदेश वासियों को कई सौगातें दी हैं. कैबिनेट बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने सरकार के फैसलों की जानकारी दी, जिसमें किसान केंद्र में रहे. उन्होंने बताया कि किसान कर्ज माफी के लिए अपैक्स बैंक को 5000 करोड़ कर्ज लेने की मंजूरी दी गई है. कैबिनेट ने कर्जमाफी शिविरों की अवधि भी 15 अगस्त तक बढ़ाने की मंजूरी दी गई है.

मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने बताया कि पलायन करने वाले किसान का भी कर्ज माफ होगा. इसके लिए लोन वेवर सॉफ्टवेयर बनाया गया है. उन्होंने बताया कि अब तक 4361 कर्जमाफी शिविर लगाए गए हैं. इनमें अब तक 16 लाख 56 हजार किसानों के 5077 करोड़ की कर्जमाफी के प्रमाण पत्र बांटे जा चुके हैं. 29 लाख 21 हजार किसानों के 8000 करोड़ का कर्ज माफ किया गया है. 2000 करोड़ रुपए सहकारी बैंकों को हर साल देने का फैसला भी किया गया है.

उन्होंने बताया कि संस्कृत यूनिवर्सिटी के वीसी की नियुक्ति में यूजीसी के प्रावधान लागू होंगे. सर्च कमेटी ही अब यूनिवर्सिटी के वीसी का चयन करेगी. कैबिनेट ने नियमों में संशोधन को मंजूरी दे दी है.



ये भी पढ़ें- गेहूं घोटाला: आरोपी सस्पेंडेड IAS निर्मला मीणा को दो महीने बाद मिली जमानत
शेट्टी आयोग की सिफारिश पर अधीनस्थ कोर्ट के मंत्रालयिक कर्मचारियों को राहत दी है. 1 सितंबर 2006 और 1 जनवरी 2006 से प्रथम वेतन की गणना, 1 जुलाई 2013 तक वेतन निर्धारण शेट्टी आयोग की सिफारिशों के हिसाब से किया जाएगा. इसको कैबिनेट ने मंजूरी दी है.

सरकारी कर्मचारियों के तीसरी संतान होने पर सेवा समाप्ति के प्रावधान को भी हटा दिया गया है. कैबिनेट ने पेंशन नियमों और सिविल सेवा आचरण नियमों में संशोधन को भी मंजूरी दी है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान पुलिस ने फिर निकाली भर्ती, 8वीं पास करें अप्लाई

सरकारी गैर सरकारी संस्थाओं को जमीन आवंटन को कैबिनेट की मंजूरी मंजूरी देते हुए कैबिनेट ने कर्मचारी चयन बोर्ड, आईबी को झालाना की जगह जयपुर मेट्रो की जमीन आवंटित करने की मंजूरी दी है. मेट्रो को अब अन्यत्र जगह दी जाएगी. खंडेलवाल वैश्य सेवा समिति को विद्याधर नगर में 1629 वर्गमीटर जमीन संस्थानिक आरक्षित दर पर आवंटित करने को मंजूरी दी है. सेवा भारती को कोटा में 2076 वर्ग गज जमीन आवंटन को मंजूरी, रैबारी समाज को जयपुर में 2000 वर्गगज जमीन आवंटन को मंजूरी दी है.

कैबिनेट की बैठक में 8 शहीद सैनिकों के परिजनों को हाउसिंग बोर्ड से मुफ्त मकान देने की मंजूरी दी गई है. कैबिनेट ने बड़ा फैसला करते हुए होमगार्ड्स के चयन के लिए अब राज्य स्तर पर कमेटी बनाने को मंजूरी दी है. डीजी होमगार्ड से भर्ती का अधिकार छीनते हुए अब जल्द ही 1650 होमगार्ड्स के खाली पद भरने की बात कही है.

चिकित्सा सेवा नियमों में भी संशोधन को कैबिनेट ने मंजूरी दी है. अब नर्सिंग अधीक्षक के प्रथम और द्वितीय लेवल की जगह एक ही पद होगा.

ये भी पढ़ें- विवादों में कांग्रेस का प्रवक्ता हंट, पूछा- गहलोत, पायलट में से कौन श्रेष्ठ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज