Congress News: महंगाई पर केन्द्र के खिलाफ कांग्रेस के अभियान में सामने आई गुटबाजी

अब बाहरी लोगों ने भी कांग्रेस की इस खींचतान को लेकर सवाल उठाने शुरू कर दिये हैं.

अब बाहरी लोगों ने भी कांग्रेस की इस खींचतान को लेकर सवाल उठाने शुरू कर दिये हैं.

Congress's mutual estrangement came to fore again: राजस्थान कांग्रेस में अभी सबकुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है. प्रदेश कांग्रेस की ओर से केन्द्र सरकार के खिलाफ महंगाई के मुद्दे को लेकर शुरू किये गये उसके अभियान में इसकी बानगी साफ नजर आ रही है.

  • Share this:

जयपुर. बढ़ती महंगाई (Rising inflation) पर केन्द्र सरकार को घेरने के लिए प्रदेश कांग्रेस ने रविवार से सोशल मीडिया अभियान की शुरुआत की. घेरना तो केन्द्र सरकार को था लेकिन अब कांग्रेस (Congress) खुद अपने इस अभियान पर घिरने लगी है. इस अभियान ने कांग्रेस के एकजुटता के दावों को एक बार फिर से धराशायी कर दिया है. प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर शुरू किए गए इस अभियान से कई मंत्रियों, विधायकों और पदाधिकारियों ने दूरी बनाए रखी जिसे लेकर अब सवाल उठने लगे हैं.

मंत्रियों, विधायकों और पदाधिकारियों की अभियान से दूरी को पार्टी नेताओं के आपसी मनमुटाव से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि, प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने यह कह कर कि दूसरी व्यवस्तताओं के चलते नेताओं ने सोशल मीडिया पर पोस्ट नहीं किए होंगे. अपनी नाराजगी सार्वजनिक तौर पर जाहिर नहीं की है, लेकिन माना जा रहा है कि इसे लेकर अंदरुनी खींचतान शुरू हो गई है और मामला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा प्रदेश प्रभारी अजय माकन तक जा सकता है.

संयम लोढा ने उठाए सवाल

बाहरी लोगों ने भी कांग्रेस की इस खींचतान को लेकर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं. कांग्रेस से नजदीकी रखने वाले निर्दलीय विधायक संयम लोढा ने ट्वीट कर पूछा है कि क्या कारण है कि केन्द्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ 7 वर्ष पूरे होने पर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के ऑनलाइन विरोध कार्यक्रम की राज्य के कई मंत्रियों ने अनदेखी की?
'प्रदेश कांग्रेस की ऑथोरिटी को कमजोर न होने दीजिए'

अपने ट्वीट में संयम लोढा ने कहा कि विनती है कि प्रदेश कांग्रेस की ऑथोरिटी को कमजोर ना होने दीजिए. संयम लोढा ने अपने ट्वीट पर राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल और अजय माकन को टैग भी किया है. महंगाई पर बीजेपी को घेरने चली कांग्रेस के लिए मनमुटाव ने नई मुसीबत खड़ी कर दी है और पार्टी की यह आपसी खींचतान लंबी खिंच सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज