प्रत्याशी चयन में बदलाव की आहट, कांग्रेस नए जातीय समीकरण और बीजेपी देख रही फीडबैक

फाइल फोटो।
फाइल फोटो।

कांग्रेस जहां नए जातीय समीकरणों पर मंथन कर लोकसभा चुनाव जीतने की रणनीति बना रही है, वहीं बीजेपी में फीडबैक के आधार पर दस सांसदों की टिकटों पर खतरा मंडरा रहा है. लिहाजा वहां चेहरे बदले जाएंगे.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही अब राजनीतिक दलों में प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया में तेजी आनी शुरू हो गई है. कांग्रेस जहां नए जातीय समीकरणों पर मंथन कर लोकसभा चुनाव जीतने की रणनीति बना रही है, वहीं बीजेपी में फीडबैक के आधार पर दस सांसदों की टिकटों पर खतरा मंडरा रहा है. लिहाजा वहां चेहरे बदले जाएंगे.

लोकसभा चुनाव-2019: राजस्व मंत्री चौधरी की राहुल गांधी से मुलाकात, दावेदारी जताई

कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक, सीईसी को अब भेजा जाएगा सिंगल नाम का पैनल



कांग्रेस नए जातीय समीकरणों के तहत चित्तौड़गढ़ में ब्राह्मण की जगह राजपूत तथा राजसमंद में राजपूत की बजाए रावत या जाट पर फोकस कर रही है. जोधपुर में राजपूत की जगह विश्नोई या पुष्करणा ब्राह्मण तो बाड़मेर में जाट की बजाए राजपूत उम्मीदवार पर ध्यान केन्द्रीत किया जा रहा है. टोंक-सवाईमाधोपुर से मुस्लिम की बजाय गुर्जर या मीणा पर दांव लगाया जा सकता है.
लोकसभा चुनाव-2019: 4,84,79,229 मतदाता तय करेंगे भावी 25 सांसदों का भाग्य

लोकसभा चुनाव-2019 : बीजेपी के लिए इस बार आसान नहीं है राह, बहाना पड़ेगा पसीना

कोटा में कांग्रेस राजपूत की बजाए मीणा या गुर्जर पर लगा सकती है दांव
इसके साथ ही कोटा में राजपूत की बजाए मीणा या गुर्जर की लॉटरी लग सकती है. झुंझुनूं में जाट की बजाय माली या कायमखानी और चूरू से जाट की जगह ब्राह्मण या राजपूत प्रत्याशी पर मंथन किया जा रहा है. वहीं अजमेर में ब्राह्मण की बजाए जाट या राजपूत और जयपुर ग्रामीण में जाट की बजाए यादव उम्मीदवार पर मंथन चल रहा है. जयपुर शहर में ब्राह्मण की बजाए वैश्य और जालोर-सिरोही में पटेल की बजाए माली या देवासी को तरजीह दिए जाने की चर्चाएं हैं.

लोकसभा चुनाव: यहां कराना पड़ा 3 बार मतदान, कलेक्टर और SP को भी पड़ा था हटाना

लोकसभा चुनाव 2019: प्रदेश में बीजेपी-कांग्रेस के इन दिग्गजों पर रहेगी सभी की नजरें

बीजेपी में 10 सांसदों की टिकट खतरे में
बीजेपी में फीडबैक के आधार पर 10 सांसदों की टिकट पर संकट मंडरा रहा है. इनमें एक केंद्रीय राज्यमंत्री की टिकट भी खटाई में है. बीजेपी शेखावाटी में सीकर, झुंझुनूं और चूरू की सीट पर चेहरे बदल सकती है. वहीं मारवाड़ में जालोर-सिरोही, बाड़मेर और नागौर में बदलाव की आहट सुनाई दे रही है. बृज के भरतपुर और धौलपुर-करौली में भी बदलाव के आसार हैं. जयपुर शहर, टोंक-सवाईमाधोपुर सीट पर भी नए चेहरे उतारने की तैयारी की जा रही है. जबकि दौसा, अलवर और अजमेर सीट पर चेहरों को बदला जाना लगभग तय है.

बाड़मेर-जैसलमेर से मंत्री चौधरी की दावेदारी पर बोले मानवेन्द्र- 'टिकट मांगना सबका अधिकार'

लोकसभा चुनाव 2019: राजस्थान में दो चरणों में होंगे चुनाव, 29 अप्रेल और 6 मई को होगा मतदान

लोकसभा चुनाव-2019: राजस्थान में किस सीट के लिए कब होगा मतदान, यहां देखें पूरा कार्यक्रम

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज