लाइव टीवी

राजस्थान विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, स्पीकर को कहना पड़ा- 'मैं खुद प्रताड़ित महसूस कर रहा हूं'
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: February 12, 2020, 12:47 PM IST
राजस्थान विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, स्पीकर को कहना पड़ा- 'मैं खुद प्रताड़ित महसूस कर रहा हूं'
विधायक मदन दिलावर ने इस मामले में सरकार से सवाल पूछा था.

कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौतों के मामले पर राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Vidhan Sabha) में जमकर हंगामा हुआ. विधायक मदन दिलावर ने इस मामले में सरकार से सवाल पूछा था.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Vidhan Sabha) में बुधवार को कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौतों के मामले पर जमकर हंगामा हुआ. विधायक मदन दिलावर ने इस मामले में सरकार से सवाल पूछा था इस पर चिकित्सा मंत्री डाॅ. रघु शर्मा के जांच रिपोर्ट्स के निष्कर्ष के जवाब पर विपक्ष ने असंतुष्टि जताई. मंत्री ने जब 5 साल के आंकड़े गिनाने शुरू किए तो बीजेपी विधायकों ने इस पर विरोध जताते हुए वेल में पहुंच कर हंगामा शुरू कर दिया. विधायक वेल में चिकित्सा मंत्री के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने भी मंत्री शर्मा के जवाब पर नाराजगी जताई.

स्पीकर बाेले- 'मैं खुद प्रताड़ित महसूस कर रहा'
उधर, स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने कहा, 'मैं खुद प्रताड़ित महसूस कर रहा हूँ'. आसन से डॉ. जोशी ने कहा कि प्रश्न की एक लिमिटेशन है. प्रश्न उठाने के कुछ तरीके हैं. चैम्बर में आकर इस पर बात करें. नियमों के अन्तर्गत ही प्रश्नकाल होगा. जनरल डिबेट की तरह इस पर चर्चा नहीं हो सकती. जिन मुद्दों पर सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं, उन पर बैठकर चर्चा कर सकते हैं. पक्ष-विपक्ष पर समान रूप से नियम लागू होते हैं.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया हस्तक्षेप

इस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सदन में अध्यक्ष प्रताड़ित महसूस करें. हमें सदन की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए. विपक्ष की असहमति का हम सम्मान करते हैं लेकिन केवल राजनीति के लिए कोई मुद्दा नहीं आए. दोनों पक्ष सदन की गरिमा का ध्यान रखें.

कटारिया ने कहा- सदन चलाने में सहयोग की हमारी मंशाविधानसभा में हंगामे पर नेता प्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया ने कहा कि सदन चलाने में सहयोग की हमारी मंशा है लेकिन लेकिन सवाल की महत्ता समझी जाए. किसानों से जुड़े सवाल को भी गंभीरता से नहीं लिया गया. इंश्योरेंस के लाभ से लाखों किसान वंचित रह गए, समय पर ऋण नहीं मिलने से स्थिति बनी.

ये भी पढ़ें- 

भंवरी देवी हत्याकांड में जेल में बंद पति अमरचंद को मिली जमानत

जयपुर के TikTok कांड में अब तक 6 गिरफ्तार, होटल में हुई थी किशोरी से जान पहचान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 12:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर