• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • चीन विवाद: 'अमित शाह का ध्यान देश की सुरक्षा की बजाय सरकारें गिराने पर ज्यादा'

चीन विवाद: 'अमित शाह का ध्यान देश की सुरक्षा की बजाय सरकारें गिराने पर ज्यादा'

केन्द्रीय मंत्री अमित शाह को लेकर सीएम अशोक गहलोत ने बयान दिया है. फाइल फोटो.

केन्द्रीय मंत्री अमित शाह को लेकर सीएम अशोक गहलोत ने बयान दिया है. फाइल फोटो.

भारत-चीन बॉर्डर (India-China Border) पर बने तनावपूर्ण हालात को लेकर राजस्थान (Rajasthan) के सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर निशाना साधा.

  • Share this:
जयपुर. भारत-चीन बॉर्डर (India-China Border) पर बने तनावपूर्ण हालात को लेकर राजस्थान (Rajasthan) के सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर निशाना साधा. सीएम गहलोत ने कहा कि आज सभी पड़ोसी देशों के मिजाज हमारे खिलाफ क्यों है, पाकिस्तान तो पहले से ही था, नेपाल जो हिन्दू राष्ट्र था वह भी अब हमारी जमीन कब्जा रहा है. मोदीजी ने नेपाल का भी दौरा किया. क्या कारण है कि सभी पड़ोसी देश हमारे खिलाफ हैं. चीन की तो लंबी हिस्ट्री है, चीन ने हमेशा पाकिस्तान का साथ दिया.

सीएम गहलोत ने कहा- 'नरेंद्र मोदी 18 बार चीन के नेताओं से मिले, मोदी जब चीनी राष्ट्रपति को झूला झुला रहे थे, तब भी बॉर्डर पर झड़पें चल रही थीं. अमित शाह का ध्यान आंतरिक सुरक्षा और बॉर्डर की जगह चुनी हुई सरकारें गिराने पर ज्यादा है'. सीएम गहलोत रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीडिया से बातचीत कर रहे थे.

चीन मुद्दे पर सरकार के साथ हैं
सीएम गहलोत ने कहा, पीएम मोदी ने बयान दिया कि चीन ने बॉर्डर क्रॉस नहीं किया, मोदी के बयान की चीन में तारीफ हो रही है0 चीन इसे सर्टिफिकेट के रूप में पेश कर रहा है. मोदी को चीन को लेकर अपना बयान वापस लेना चाहिए. मोदी चीन सीमा पर बने हालात पर सच्चाई देश को बताएं. चीन सीमा पर कितने सैनिक दोनों तरफ मरे, इसका ब्यौरा दें. आज भी चीन मुद्दे पर कांग्रेस सहित सभी दल पीएम आए सरकार के साथ खड़े हैं.

ये भी पढ़ें: एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का दुखद अंत: घरवालों को वीडियो कॉल ​कर कपल ने सुनाई Love स्टोरी, फिर..

बीजेपी के सभी अध्यक्षों के साथ चीन के अच्छे रिश्ते
सीएम अशोक गहलोत ने कहा,  आज 1962 वाले हालात नहीं हैं. आज हमारी सैन्य ताकत महाशक्तियों के बराबर है. मोदी गलवान घाटी के हालात को छिपा क्यों रहे हैं. यूपीए राज में भी चीनियों को भगाया गया था. मोदी और अमित शाह चीन बॉर्डर के हालत पर देश को क्यों नहीं बता रहे है, वे किस दबाव में हैं. चीन ने क्या सोचकर यह हरकत की है. बिना कारण ऐसी घटना कैसे हो गई इसका पीएमओ, विदेश मंत्रालय को विश्लेषण करना चाहिए. ये समझ के परे है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के जितने भी अध्यक्ष बने हैं, उनके रिश्ते चीन के साथ अच्छे रहे हैं, मोदी जी भी जब मुख्यमंत्री थे तो बराबर चीन जाते रहे हैं, प्रधानमंत्री के रूप में भी गए हैं. यह समझ के परे है कि अच्छे रिश्ते होने के बावजूद भी अचानक ये क्या हुआ? इसलिए हम बार-बार कहते हैं कि उनको बताना चाहिए देश को.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज