• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan: गहलोत सरकार घायलों की मदद करने वालों को देगी 5 हजार रुपए, सर्टिफिकेट भी मिलेगा

Rajasthan: गहलोत सरकार घायलों की मदद करने वालों को देगी 5 हजार रुपए, सर्टिफिकेट भी मिलेगा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना की शुरुआत की है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना की शुरुआत की है.

Jaipur News: राजस्थान (Rajasthan) में सड़क हादसे में घायल लोगों की मदद करने वालों को अब गहलोत सरकार पांच हजार रुपए और प्रशस्ति पत्र देगी. ऐसे लोगों से पुलिस पूछताछ भी नहीं होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में अब सड़क हादसे (Road Accident) में घायल लोगों की मदद करने वालों को गहलोत सरकार इनाम देगी. इनाम में उनको पैसों से साथ सर्टिफिकेट भी मिलेगा. राजस्थान में आए दिन कई सड़क हादसे होते है. इन हादसों में कई लोग घायल हो जाते हैं. ऐसे घायलों की मदद के लिए आगे आने से लोग अक्सर कतराते हैं. उन्हें हमेशा कानूनी कार्रवाई का डर लगा रहता है. समय पर इलाज नहीं मिलने से कई लोगों की मौत भी हो जाती है. अब राजस्थान सरकार ने ऐसे लोगों की जिंदगी बचाने के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है. इस योजना में घायलों को अस्पताल पहुंचाने वाले लोगों को सरकार की ओर से 5 हजार रुपए और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा.

    दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक सड़क हादसे में घायलों की मदद के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत सड़क हादसे में घायल लोगों की मदद करने वालों से किसी तरह की पुलिस पूछताछ नहीं होगी. अगर कोई व्यक्ति मदद करने के लिए घायल को अस्पताल पहुंचाता है तो उसे वहां पैसे भी नहीं देने होंगे.

    कैसे मिलेगी राशि

    योजना के तहत इनाम की राशि उन लोगों को मिलेगी जो मदद के लिए गंभीर अवस्था में घायल व्यक्ति को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाएगा. सामान्य घायलों को अस्पताल लाने पर सिर्फ सर्टिफिकेट दिया जाएगा. दैनिक भास्कर की खबर की खबर के मुताबिक, सरकारी एम्बुलेंस, निजी एम्बुलेंस के कर्मचारी, PCR वैन और ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मचारियों और घायल व्यक्ति के संबंधियों को इस योजना के तहत कोई इनाम राशि नहीं दी जाएगी.

    ये भी पढ़ें: राजस्थान विधानसभा: गहलोत खेमे ने दूर की सीपी जोशी की नाराजगी, अगले दो दिन चलेगा सदन, पेश होंगे अहम बिल

    CMO देंगे जानकारी

    अगर घायल शख्स की मदद करने वाले व्यक्ति को इस योजना के तहत इनाम लेना हो तो उसे अपनी पूरी सही जानकारी अस्पताल में तैनात कैजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर (CMO) को देनी होगी. व्यक्ति को अपना सही नाम, पता, मोबाइल नंबर और बैंक डिटेल देना होगा. फिर सीएमओ इस जानकारी के आधार पर एक रिपोर्ट तैयार करेंगे और तय करेंगे की अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया घायल व्यक्ति गंभीर है या नहीं और उसे तुरंत इलाज मिला की नहीं. इसी के आधार पर राशि क्लेम करने वाले शख्स को इनाम दिया जाएगा. सीएमओ की रिपोर्ट डायरेक्टर (पब्लिक हेल्थ) को जाएगा. फिर इनाम की राशि अप्रूव होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज