Home /News /rajasthan /

दिवाली से पहले CM अशोक गहलोत ने दी दोहरी सौगात, बढ़ाया महंगाई भत्ता, बोनस भी मिलेगा

दिवाली से पहले CM अशोक गहलोत ने दी दोहरी सौगात, बढ़ाया महंगाई भत्ता, बोनस भी मिलेगा

सीएम अशोक गहलोत ने दिवाली से पहले कर्मचारियों को भत्ता और बोनस की सौगात दी.

सीएम अशोक गहलोत ने दिवाली से पहले कर्मचारियों को भत्ता और बोनस की सौगात दी.

Jaipur News: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने दिवाली (Diwali 2021) से पहले राजस्थान के कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (dearness allowance) में 3 प्रतिशत बढ़ोतरी और तदर्थ बोनस की सौगात दी है.

    जयपुर. मुख्यमंत्री आशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने राज्य कार्मिकों को दिवाली (Diwali) के अवसर पर महंगाई भत्ते (dearness allowance) में तीन प्रतिशत बढ़ोतरी और तदर्थ बोनस के रूप में दोहरी सौगात दी है. सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों के अनुरूप ही राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते और पेंशनर्स को देय महंगाई राहत की दर में तीन प्रतिशत बढ़ोतरी को मंजूरी दी है. अब राज्य कर्मचारियों और पेंशनर्स को 1 जुलाई 2021 से 31 प्रतिशत महंगाई भत्ता और महंगाई राहत दर देय होगी. पूर्व में राज्य कर्मचारियों और पेंशनर्स को 28 प्रतिशत महंगाई भत्ता दिया जा रहा था.

    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस निर्णय का लाभ करीब 8 लाख अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ ही 4 लाख 40 हजार पेंशनर्स को भी मिलेगा. यह लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित, पंचायत समिति तथा जिला परिषद के कर्मचारियों को भी देय होगा.

    1230 करोड़ रुपए का आएगा भार

    कर्मचारियों की 1 जुलाई, 2021 से 30 सितंबर, 2021 तक बढ़े हुए महंगाई भत्ते की राशि उनके सामान्य प्रावधायी निधि या सामान्य प्रावधायी निधि-एसएबी खाते में जमा की जाएगी. अक्टूबर, 2021 के वेतन से इसका नकद भुगतान किया जाएगा. आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की घोषणा किए जाने के साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते की दर में 3 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का निर्णय किया है. राज्य सरकार इस बढ़ोतरी पर सालाना करीब 1230 करोड़ रूपए का वित्तीय भार वहन करेगी.

    6 लाख कर्मचारियों को तदर्थ बोनस

    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के करीब 6 लाख कर्मचारियों को दिवाली पर तदर्थ बोनस देने की भी मंजूरी दी है. यह लाभ राज्य सेवा के राजपत्रित अधिकारियों को छोड़कर पे-मैट्रिक्स लेवल-12 और ग्रेड पे-4800 और इससे नीचे के लेवल का वेतन ले रहे राज्य कर्मचारियों को मिलेगा. यह बोनस पंचायत समिति, जिला परिषद के कर्मचारियों के साथ कार्य प्रभारित कर्मचारियों को भी देय होगा. तदर्थ बोनस की गणना वर्ष 2020-21 के लिए अधिकतम परिलब्धियों सात हजार रुपए और 31 दिन के माह के आधार पर की जाएगी. यह बोनस 30 दिन की अवधि के लिए देय होगा. इस प्रकार प्रत्येक कार्मिक को अधिकतम 6 हजार 774 रुपए तदर्थ बोनस मिलेगा.

    ये भी पढ़ें: Police Shahid Diwas: राजस्थान का वो शहर, जहां की हर गली करती है अपने शहीद जवानों को सैल्यूट
    पिछले साल तदर्थ बोनस की 25 प्रतिशत राशि नकद और 75 प्रतिशत राशि सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की गई थी, जबकि इस बार बोनस की 50 प्रतिशत राशि नकद और शेष 50 प्रतिशत सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जाएगी. राज्य सरकार इस पर 500 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार वहन करेगी. सीएम अशोक गहलोत के नेताओं का कर्मचारी संगठनों ने स्वागत किया है.

    Tags: 7th pay commission, CM Ashok Gehlot, Dearness allowance, Jaipur news, Rajasthan news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर