कोटा में IIIT के निर्माण का रास्ता साफ, CM अशोक गहलोत ने 7.46 करोड़ के फंड को दी मंजूरी

2011 में कोटा में ट्रिपल आईटी के निर्माण की घोषणा हुई थी.
2011 में कोटा में ट्रिपल आईटी के निर्माण की घोषणा हुई थी.

सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कोटा में ट्रिपल आईटी (IIIT) के निर्माण के लिए 7.46 करोड़ रुपए के अतिरिक्त फंड को मंजूरी दे दी है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के कोटा में ट्रिपल आईटी (IIIT) यानी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के भवन के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कोटा में ट्रिपल आईटी के निर्माण के लिए राज्यांश की राशि के रूप में 7.46 करोड़ रुपए के अतिरिक्त प्रावधान को मंजूरी दे दी है. गहलोत ने यह सहमति इस शर्त के साथ दी है कि स्वीकृत राशि का उपयोग योजना के दिशा-निर्देशों, आरटीपीपी एक्ट और सम्बन्धित नियमों का पूरा पालन करते हुए किया जाएगा. सीएम के इस फैसले से कोटा में ट्रिपल आईटी के निर्माण को गति मिलेगी. वहीं केन्द्रीय अंश के रूप में प्राप्त 19.38 करोड़ की राशि का उपयोग भी संभव होगा.

केंद्र, राज्य और औद्योगिक घरानों के सहयोग से हो रहा निर्माण
कोटा ट्रिपल आईटी के निर्माण में 50 फीसदी राशि केंद्र सरकार खर्च कर रही है, 35 फीसदी पैसा राज्य सरकार का और 15 फीसदी पीपीपी मोड के तहत औद्योगिक घरानों को खर्च करना है. राज्य के हिस्से की राशि मिलाने पर ट्रिपल आईटी कोटा का काम आगे बढ़ सकता था. केंद्र से आवंटित राशि को भी खर्च किया जा सकता है.

3 फेज में होना है काम
कोटा ट्रिपल आईटी भवन के पहले फेज का काम पूरा होने का लक्ष्य 2020-21 रखा गया था. यह काम 3 फेज में होना है. लेकिन तय डेडलाइन पर काम पूरा नहीं हो सका. साल 2011 में ही कोटा में ट्रिपल आईटी खोलने की घोषणा की गई थी. चूंकि संस्थान का अभी अपना भवन नहीं है, इसके कारण ट्रिपल आईटी की कक्षाएं वर्तमान में MNIT जयपुर कैम्पस में  संचालित हो रही हैं. सीएम अशोक गहलोत के इस संस्थान के लिए अतिरिक्त राशि मंजूर करने से अब ट्रिपल आईटी भवन का काम आगे बढ़ने से उम्मीद है. साथ ही यह संभावना भी है कि जल्द ही इस संस्थान के छात्रों को अपना कैंपस मिल सकेगा. अपना कैंपस होने के साथ-साथ इन छात्र-छात्राओं को सूचना तकनीक की पढ़ाई से संबंधित अन्य सुविधाएं भी मिल सकेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज