लाइव टीवी

गेमचेंजर बने CM गहलोत, सरकारी स्कूलों के बच्चे बोलने लगे फर्राटेदार अंग्रेजी!

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: December 9, 2019, 8:17 PM IST
गेमचेंजर बने CM गहलोत, सरकारी स्कूलों के बच्चे बोलने लगे फर्राटेदार अंग्रेजी!
राजस्थान सीएम अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती पर गहलोत सरकार (ashok Gehlot Government) ने अंग्रेजी माध्यम के स्कूल (English medium School) खोले. इन स्कूलों ने पढ़ाई के तौर तरीकों में नामी कॉन्वेंट स्कूलों को भी पीछे छोड़ दिया है.

  • Share this:
जयपुर. महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती पर गहलोत सरकार  (ashok Gehlot Government) ने बापू के सपनों को सच करने की दिशा में ऐतिहासिक कदम उठाया है. महात्मा गांधी के नाम पर सरकार ने अंग्रेजी माध्यम के स्कूल  (English medium School)  खोले. इन स्कूलों ने पढ़ाई के तौर तरीकों में नामी कॉन्वेंट स्कूलों को भी पीछे छोड़ दिया. पढ़ाई के तौर तरीके ऐसे हैं कि बच्चे एक बार स्कूल जाएं,,तो उनका बाहर निकलने का मन ही नहीं करता है. वे खेल खेल में पढ़ाई कर रहे है. बच्चों पर किसी भी तरह का दबाव स्कूल की ओर से नहीं बनाया जाता है. इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में अधिकांश बच्चे गरीब घरों से आते हैं. मगर उनके साथ बड़े घरों के बच्चे भी खूब पढ़ाई करते है. राजस्थान के 33 जिलों में 33 महात्मा गांधी स्कूल खोले गए हैं.

'यहां सुनहरे भविष्य का निर्माण हो रहा है'

महात्मा गांधी स्कूल की प्रिंसिपल अनु चौधरी का कहना है कि महात्मा गांधी स्कूल महज पाठशाला नहीं है, बल्कि यहां सुनहरे भविष्य का निर्माण हो रहा है. जो बच्चे मिशनरी या कान्वेंट स्कूल की शक्ल तक नहीं देख पाते थे, वो आज पूरे आत्मविश्वास के साथ यहां मौज मस्ती के बीच पढाई करते हुए नजर आते हैँ. अंग्रेजी सिर्फ संपर्क या संवाद की भाषा नहीं रही है, बल्कि वक्त के साथ ये रोजगार के लिए भी काफी जरूरी बन गई है, जो कांफिडेंस तो देती ही है, इसके साथ में स्मार्टनेस भी.

Ashok Gehlot
गहलोत सरकार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के पहले ही साल में सफलता की नई कहानी लिख दी है.


'सरकार ने अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों की कमी नहीं रहने दी'

शिक्षा विभाग के डीईओ रामचंद्र पिलानिया ने कहा कि राजस्थान के बच्चे अंग्रेजी में कमजोर माने जाते रहे हैं क्योंकि यहां अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों की बहुत कमी है. उन्होंने कहा कि इस कमी को सरकार ने खत्म कर दिया है. सरकार ने ना ही संसाधनों की कहीं कमी आड़े आने दी है और ना ही टीचिंग स्टाफ की. आज प्रदेश की महात्मा गांधी स्कूलें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का पर्याय बन गई हैं और सीएम गहलोत के सपने यहां पूरे होते दिख रहे हैं.

राजस्थान के 33 जिलों में 33 महात्मा गांधी स्कूल खोले गए हैं.
गहलोत सरकार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के पहले ही साल में सफलता की नई कहानी लिख दी है. प्रदेशभर से इंग्लिश मीडियम स्कूलों के खोले जाने की मांग लगातार बढती जा रही है, जिसे देखते हुए सरकार ने अगले साल से हर ब्लॉक में महात्मा गांधी स्कूल खोलने की योजना बनाई है.

यह भी पढ़ें: ‘पानीपत’ फिल्म विवाद पर CM अशोक गहलोत बोले, सेंसर बोर्ड करे हस्तक्षेप

 ट्रैक्टर हटाने पर हुए विवाद में युवक को मारी गोली, मां और भाभी को भी आई चोटें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 7:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर