अपना शहर चुनें

States

CM गहलोत का दावा- राजस्थान समय से पहले ही हासिल करेगा अक्षय ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि वर्ष 2024-25 तक के अक्षय ऊर्जा उत्पादन के लक्ष्य को बढ़ाया जाएगा.
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि वर्ष 2024-25 तक के अक्षय ऊर्जा उत्पादन के लक्ष्य को बढ़ाया जाएगा.

सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि प्रदेश के जोधपुर, बीकानेर, जैसलमेर सहित अन्य जिलों में 1.25 लाख हैक्टेयर बंजर जमीन उपलब्ध है. जिनका उपयोग वैकल्पिक ऊर्जा परियोजनाओं के लिए किया जा सकता है.

  • Share this:
जयपुर. तीसरे वैश्विक अक्षय ऊर्जा निवेशक सम्मेलन री इंवेस्ट में सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने निवेशकों से राजस्थान में निवेश करने का आह्वान किया. सीएम गहलोत ने कहा राजस्थान वर्ष 2024-25 तक प्रदेश के लिए तय 30 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा और 7500 मेगावाट विंड और हाइब्रिड एनर्जी उत्पादन के लक्ष्य को निर्धारित समय से पहले ही पूरा कर लेगा. प्रदेश में वैकल्पिक ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश की प्रक्रिया को आसान बनाकर निवेशकों (Investors) को विशेष सुविधाएं देने की रणनीतियों के चलते ये संभव हो पाएगा.

सीएम ने कहा कि प्रदेश की भौगोलिक परिस्थितियां सौर ऊर्जा उत्पादन के अनुकूल हैं. इस कारण हमारे यहां वैकल्पिक ऊर्जा क्षेत्र में अपार संभावनाएं मौजूद हैं. वर्तमान में 10 हजार मेगावाट क्षमता की सौर और पवन ऊर्जा परियोजनाएं स्थापित की जा चुकी हैं. 27 हजार मेगावाट की क्षमता के संयत्र स्थापित किए जा रहे हैं. प्रदेश के साल 2024-25 तक के अक्षय ऊर्जा उत्पादन लक्ष्यों को समय पूर्व हासिल कर इन्हें पुनर्निधारित कर बढ़ाया जाएगा. राजस्थान में 2.7 लाख मेगावाट सोलर और विंड एनर्जी उत्पादन की क्षमता है.

सीएम गहलोत ने कहा कि प्रदेश के जोधपुर, बीकानेर, जैसलमेर सहित अन्य जिलों में 1.25 लाख हैक्टेयर भूमि मरूस्थलीय एवं बंजर जमीन के रूप में उपलब्ध है. इसमें से अधिकतर भूमि राजस्व विभाग की है, जिसका उपयोग वैकल्पिक ऊर्जा परियोजनाओं के लिए किया जा सकता है. उन्होंने निवेशक सम्मेलन में उपस्थित अक्षय ऊर्जा उत्पादकों, विकासकर्ताओं और निवेशकों से आह्वान किया कि वे इस क्षेत्र में निवेश के लिए राजस्थान आएं और राज्य सरकार की विभिन्न निवेश प्रोत्साहन नीतियों का लाभ लेते हुए अक्षय ऊर्जा संयत्र स्थापित करें.




केन्द्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री ने मुख्यमंत्री को बधाई दी

सम्मेलन में केन्द्रीय विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्यमंत्री आरके सिंह ने बताया कि हाल ही में राजस्थान के लिए सौर ऊर्जा परियोजना के लिए खोली गई निविदाओं में उत्पादन की लागत 2 रुपए प्रति यूनिट और 2 रुपए एक पैसा प्रति यूनिट आई, जो देश में सबसे कम है. आरके सिंह ने इसके लिए मुख्यमंत्री गहलोत को बधाई दी. उन्होंने राजस्थान में वैकल्पिक ऊर्जा परियोजनाओं में निवेश के अनुकूल माहौल की सराहना की और कहा कि राज्य सरकार की बेहतर निवेश प्रोत्साहन नीतियों के चलते यह संभव हो पाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज