• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान: CM अशोक गहलोत ने लिया बड़ा फैसला, न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने को मंजूरी

राजस्थान: CM अशोक गहलोत ने लिया बड़ा फैसला, न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने को मंजूरी

मजदूरों को लेकर सीएम अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है.

मजदूरों को लेकर सीएम अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लिया है.

Jaipur News: राजस्थान की गहलोत सरकार (CM Ashok Gehlot) ने मजदूरों के लिए बड़ा फैसला लेते हुए  सभी श्रेणियों के लिए न्यूनतम मजदूरी (Minimum Wages) बढ़ाने का निर्णय लिया है

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) की गहलोत सरकार (CM Ashok Gehlot) राहत देने के लिए मजदूरों के लिए एक अहम फैसला लिया है.  राज्य सरकार ने प्रदेश में सभी श्रेणियों के लिए न्यूनतम मजदूरी (Minimum Wages) बढ़ाने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रत्येक वर्ग के लिए न्यूनतम मजदूरी की दरों में 27 रूपए प्रतिदिन की बढ़ोतरी करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. बढ़ी हुई दरें एक जुलाई, 2020 से लागू होंगी. श्रम विभाग की ओर से इस संबंध में जारी अधिसूचना के अनुसार, अब अकुशल श्रमिक को 225 रुपए के स्थान पर 252 रुपए प्रतिदिन या 6552 रुपए प्रतिमाह अर्द्धकुशल श्रमिक को रुपए स्थान पर 264 रुपए प्रतिदिन या 6864 रुपए
प्रतिमाह मिलेगा.

.

इसी तरह कुशल श्रमिक को 249 रुपए के स्थान पर 276 रुपए प्रतिदिन या 7176 रुपए प्रतिमाह तथा उच्च कुशल श्रमिक को 299 रुपए के स्थान पर 326 रुपए प्रतिदिन या 8476 रुपए प्रतिमाह मजदूरी प्राप्त होगी. इस प्रकार प्रत्येक वर्ग को न्यूनतम मजदूरी में 702 रुपए प्रतिमाह का लाभ होगा.

बढ़ी हुई दरें एक जुलाई, 2020 से लागू होंगी

एक जुलाई, 2020 से प्रस्तावित न्यूनतम मजदूरी की दरों को 1 जनवरी, 2019 30 जून, 2020 तक की अवधि में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में हुई वृद्धि के आधार पर तय किया गया है. न्यूनतम मजदूरी की दरों में पिछली वृद्धि 1 मई 2019 से लागू की गई थी. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाल ही में संकेत दिए थे कि उनकी सरकार श्रमिक वर्ग के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखती है और श्रमिकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने श्रम विभाग के प्रस्ताव को हरी झंडी देकर श्रमिक वर्ग को बड़ी राहत प्रदान की है. कोरोना काल में यह राहत श्रमिकों के लिए संजीवनी से कम नहीं है. विभिन्न सामाजिक संगठन राज्य सरकार से न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने की लंबे समय से मांग कर रहे थे. सामाजिक कार्यकर्ता अरुणा राय और निखिल डे इस संबंध में कई बार मुख्यमंत्री से भी मिली थी और श्रम सुधार के हित में काम करने का अनुरोध किया था. अब सरकार ने इस मुद्दे पर बड़ा फैसला लिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज