सीएम अशोक गहलोत बोले- राम मंदिर निर्माण के लिए दिए चंदे में गबन की खबरों से आस्‍था डिगी

सीएम गहलोत ने कहा कि मंदिर निर्माण जैसे पावन कार्य में मंदिर निर्माण के लिए बने ट्रस्ट द्वारा ही आर्थिक हेर-फेर की अनैतिक गतिविधियां किए जाने से देशभर के श्रद्धालु बेहद आहत हैं.

CM Ashok Gehlot's comment on Ram mandir Chanda controversy: सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि इससे आमजन की आस्था डिग गई है. गहलोत ने केन्द्र सरकार से मांग की है कि वो इस मामले की जांच कराए.

  • Share this:
जयपुर. राम मंदिर (Ram Mandir) की जमीन खरीद में गड़बड़ी के कथित मामले को लेकर सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) भी हमलावर हो गए हैं. मुख्‍यमंत्री गहलोत ने ट्वीट कर मामले की जांच कराने की मांग की है. उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि राजस्थान की जनता ने आस्था के साथ राम मंदिर निर्माण में देशभर में सर्वाधिक योगदान दिया था, लेकिन चंदे के गबन की खबरों से आमजन की आस्था डिग गई है.

राम मंदिर ट्रस्ट पर मंदिर की जमीन खरीद में भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं और इसे लेकर सियासत गरमा रही है. कांग्रेस इस मामले को लेकर बीजेपी और केन्द्र सरकार पर हमलावर है. गहलोत ने कहा कि कोई विश्वास नहीं कर पा रहा है कि मिनटों में कैसे जमीन का दाम 2 करोड़ रुपए से 18 करोड़ रुपए हो गये.

'मंदिर के लिए जा रहा था अवैध खनन का पत्थर'
अशोक गहलोत ने यह भी आरोप लगाया कि प्रदेश के बंशी पहाड़पुर से अवैध खनन कर गुलाबी पत्थर राम मंदिर के लिए भेजा जा रहा था. उन्होंने कहा कि हमने प्रयास किया कि इस पावन कार्य में अवैध तरीके से निकाला गया पत्थर न जाए. इसलिए हमने प्रयास कर यहां हो रहे पत्थर खनन कार्य को भारत सरकार से वैधता दिलवाई. भरतपुर जिले का बंशी पहाड़पुर गुलाबी पत्थर के लिए प्रसिद्ध है और राम मंदिर समेत कई महत्वपूर्ण इमारतों के निर्माण में यहां के पत्थर का इस्‍तेमाल किया गया है.

केन्द्र सरकार करवाए जांच
गहलोत ने कहा कि मंदिर निर्माण जैसे पावन कार्य में ट्रस्ट द्वारा ही आर्थिक हेर-फेर की अनैतिक गतिविधियां किए जाने से देशभर के श्रद्धालु बेहद आहत हैं. कोई सोच नहीं सकता था कि मंदिर निर्माण जैसे पवित्र काम में भी लोग घोटाले करने लगेंगे. सीएम गहलोत ने मांग की है कि केन्द्र सरकार अविलम्ब इस मामले की जांच करवाए, ताकि लोगों की आस्था और विश्वास बना रहे और देशवासियों की आस्था के साथ खिलवाड़ करने वाले दोषियों को सजा मिल सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.