• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • महंगाई को लेकर CM गहलोत का केंद्र पर हमला, बोले- इस वजह से फेल हुई मोदी सरकार

महंगाई को लेकर CM गहलोत का केंद्र पर हमला, बोले- इस वजह से फेल हुई मोदी सरकार

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि महंगाई बढ़ा केंद्र सरकार गलत नियत और नीति का नतीजा है. (File)

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि महंगाई बढ़ा केंद्र सरकार गलत नियत और नीति का नतीजा है. (File)

Rjasthan News: सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोविड के चलते पहले ही सभी की आमदनी कम हुई है और इस बीच बढ़ती महंगाई ने आम आदमी के जेब खर्च का हिसाब बिगाड़ कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. सीएम अशोक गहलोत ने बढ़ती महंगाई को लेकर केन्द्र सरकार पर बड़ा हमला बोला है. सीएम गहलोत ने आज एक बयान जारी कर कहा कि लगातार बढ़ती महंगाई मोदी सरकार की गलत नीति और नीयत का नतीजा है. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने पिछले सात साल में महंगाई को कम करने के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया, जिसके कारण आज इतनी महंगाई हो गई है कि आम आदमी को अपना घर चलाना मुश्किल हो गया है. गहलोत ने कहा कि कोविड के चलते पहले ही सभी की आमदनी कम हुई है और इस बीच बढ़ती महंगाई ने आम आदमी के जेब खर्च का हिसाब बिगाड़ दिया है. गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार बुरी तरह असफल हो गई है जिसके पास ना तो सही नीति है और ना ही साफ नीयत. पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस से लेकर रोजमर्रा के इस्तेमाल की सभी चीजें महंगी होती जा रही हैं.

महंगी हुई रोजमर्रा की चीजें
गहलोत ने केन्द्र सरकार द्वारा जारी किए गए महंगाई के आंकड़ों को लेकर भी केन्द्र को घेरा. उन्होंने इन आंकड़ों की चर्चा करते हुए कहा कि अप्रैल में खुदरा महंगाई 4.23% पर थी, जो मई में बढ़कर 6.30% हो गई. वहीं थोक महंगाई दर मई में बढ़कर रिकॉर्ड 12.94 फीसदी पर पहुंच गई. इसी प्रकार मई में खाद्य महंगाई 1.96% से बढ़कर 5.01% के स्तर पर पहुंच गई. यह दिखाता है कि बाजार में आम आदमी के इस्तेमाल की वस्तुओं की कीमतें किस तेजी से बढ़ी हैं. गहलोत ने मीडिया में आई कोटक इंस्टिट्यूशन सिक्योरिटीज की जून महीने की रिपोर्ट का भी जिक्र करते हुए कहा कि नहाने के साबुन की दरों में 8% से 20%, वाशिंग पाउडर की कीमतों में 3% से 10%, खाद्य तेल में 20% से 40%, चाय में 4% से 8% और बेबी फूड की कीमतों में 3% से 7% की बढोतरी हुई है. उन्होंने कहा कि एक लीटर सरसों के तेल की कीमत 180-190 रुपये तक पहुंचना आम आदमी से भोजन छीनने जैसा है.

गैस महंगी होने से चूल्हा जलाने को मजबूर
गहलोत ने एक जुलाई से रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में हुई 25 रुपये की बढ़ोत्तरी पर भी मोदी सरकार को घेरा. गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले 14 महीने में रसोई गैस सिलेंडर के दाम 255 रुपये बढ़ा दिए हैं. गैस सब्सिडी भी अब पूरी तरह बन्द हो गई है. इससे आमजन खाना पकाने के लिए सिलेंडर छोड़कर फिर से कोयला और लकड़ी के इस्तेमाल को मजबूर हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि यूपीए के समय 450 रुपये का गैस सिलेंडर मोदी सरकार 838 रुपये में बेच रही है. गहलोत ने कहा कि उज्ज्वला योजना में सिलेंडर पाने वाले परिवार अब सरकार को अपना सिलेंडर वापस देना चाहते हैं, जो मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों का परिणाम है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज