लाइव टीवी

नकारा अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए अनिवार्य सेवानिवृत्ति जैसा कदम जरूरी- CM गहलोत
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: December 21, 2019, 10:32 AM IST
नकारा अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए अनिवार्य सेवानिवृत्ति जैसा कदम जरूरी- CM गहलोत
सीएम ने कहा कि कोई कितना ही बड़ा अधिकारी क्यों ना हो उसे यह डर होना चाहिए कि काम नहीं करने पर उसकी नौकरी जा सकती है.

सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि अच्छा काम करने वाले और नाकारा कर्मचारियों के साथ एक जैसा व्यवहार करना उचित नहीं है. इससे काम करने वाले लोगों के मन में निराशा का भाव पैदा होता है. कोई कितना ही बड़ा अधिकारी क्यों न हो उसे यह डर होना चाहिए कि काम नहीं करने पर उसकी नौकरी जा सकती है

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कामचोर और नकारा अधिकारियों-कर्मचारियों (Negligent Officer-Employee ) की जमकर खबर ली है. सीएम गहलोत ने कहा कि सरकार में अच्छे काम करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रोत्साहन (Motivation) मिलना चाहिए, जबकि कामचोर और नकारा अधिकारियों-कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति (Compulsory Retirement) देने जैसे सख्त कदम उठाना जरूरी है.

काम करने वाले और नकारा के प्रति एक जैसा व्यवहार उचित नहीं
सीएम गहलोत ने कहा कि अच्छा काम करने वाले और नाकारा कर्मचारियों के साथ एक जैसा व्यवहार करना उचित नहीं है. इससे काम करने वाले लोगों के मन में निराशा का भाव पैदा होता है. कोई कितना ही बड़ा अधिकारी क्यों न हो उसे यह डर होना चाहिए कि काम नहीं करने पर उसकी नौकरी जा सकती है.

हाउसिंग बोर्ड की 3 योजनाओं को लॉन्च किया



मुख्यमंत्री शुक्रवार को जयपुर में शिक्षकों और पुलिसकर्मियों के लिए हाउसिंग बोर्ड की तीन योजनाओं के लॉन्चिंग समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने इस मौके पर मुख्यमंत्री शिक्षक आवासीय योजना, मुख्यमंत्री प्रहरी आवासीय योजना और आतिश मार्केट योजना मानसरोवर का शुभारंभ किया. इनके साथ ही जयपुर चौपाटी मानसरोवर का शिलान्यास भी किया.

हाउसिंग बोर्ड अपने मकानों की गुणवत्ता सुधारे
इस दौरान सीएम ने हाउसिंग बोर्ड को अपने मकानों की गुणवत्ता सुधारने की नसीहत भी दी. उन्होंने कहा कि जनता में हाउसिंग बोर्ड के मकानों को लेकर अच्छी धारणा नहीं है. दरअसल यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने जयपुर में पुराने आतिश मार्केट को खाली करवाने की घोषणा की है. जयपुर में नया आतिश मार्केट बनने के बाद भी अभी तक पुरानी जगह खाली नहीं हुई है. पुराने आतिश मार्केट की जगह पार्किंग बनाई जाएगी.

इसके लिए अब हाउसिंग बोर्ड को अतिक्रमण हटाने के अधिकार मिल सकते हैं. इसके मद्देनजर कानून में संशोधन की तैयारी की जा रही है. इसके लिए उच्च स्तर पर मंथन चल रहा है.

ये भी पढ़ें-

Jaipur Bomb Blast Case: जयपुर को मिला इंसाफ, चारों गुनाहगारों को फांसी की सजा

Jaipur Bomb Blast Case: गुनाहगारों को मिली सजा-ए-मौत तो पीड़ितों को मिला सुकून

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 21, 2019, 9:59 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर