शिक्षक दिवस: सीएम गहलोत ने दिया बड़ा तोहफा, सम्मानित शिक्षकों को मिलेगा आवासीय भूखंड
Jaipur News in Hindi

शिक्षक दिवस:  सीएम गहलोत ने दिया बड़ा तोहफा, सम्मानित शिक्षकों को मिलेगा आवासीय भूखंड
राज्य सरकार राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर सम्मानित होने वाले शिक्षकों को आवासीय भूखण्ड उपलब्ध कराएगी. इसके साथ ही उन्हें रोडवेज बसों में निशुल्क यात्रा की सुविधा भी प्रदान की जाएगी.

जयपुर. शिक्षक दिवस (Teacher's day) के मौके पर सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) राष्ट्रीय और राज्य स्तर (National and state level) पर सम्मानित (Honored) होने वाले शिक्षकों को बड़ा तोहफा (Big gift) दिया है. सरकार (State government) राष्ट्रीय- राज्य स्तर पर सम्मानित होने वाले शिक्षकों को आवासीय भूखण्ड (Residential plot) उपलब्ध कराएगी.

  • Share this:
जयपुर. शिक्षक दिवस (Teacher's day)  के मौके पर सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) राष्ट्रीय और राज्य स्तर (National and state level) पर सम्मानित (Honored) होने वाले शिक्षकों को बड़ा तोहफा (Big gift) दिया है. राज्य सरकार (State government) राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर सम्मानित होने वाले शिक्षकों को आवासीय भूखण्ड (Residential plot) उपलब्ध कराएगी. इसके साथ ही उन्हें रोडवेज बसों में निशुल्क यात्रा (Free travel) की सुविधा भी प्रदान की जाएगी. सीएम अशोक गहलोत ने गुरुवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर राजधानी जयपुर में आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षकों के बीच यह बड़ी घोषणा की. आवासीय योजना के लिए सरकार जल्द स्कीम बनाएगी.

117 शिक्षकों को किया गया सम्मानित
शिक्षक दिवस पर जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में 117 शिक्षकों को उनके उल्लेखनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया गया. सीएम अशोक गहलोत के मुख्य आतिथ्य में आयोजित समारोह की अध्यक्षता शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द डोटासरा ने की. समारोह में उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी और मंत्री सुभाष गर्ग समेत विभाग के आला अधिकारी शामिल हुए.

सरकारी स्कूल निजी से कहीं भी कम नहीं हैं
इस मौके पर सीएम अशोक गहलोत कहा कि शिक्षा के बिना जीवन में अंधेरा है. बालिका शिक्षा के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए राजीव गांधी स्वर्ण जयंती पाठशालाएं खोली गईं. गहलोत ने कहा कि सरकारी स्कूलों में दो लाख नामांकन बढ़ा है. यह खुशी की बात है. शिक्षकों ने मेहनत से साबित कर दिया कि सरकारी स्कूल निजी से कहीं भी कम नहीं हैं. शिक्षा और स्वास्थ्य कमाई का जरिया ना बने. इसमें नो प्रॉफिट, नो लॉस होना चाहिए.



626 कर्मियों को अनुकम्पा नियुक्ति दी गई है
शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा हमने अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले हैं. गांव गरीब के बच्चे अब अंग्रेजी स्कूल में पढ़ने लगे हैं. शिक्षकों की 90 हजार परिवेदनाओं का निस्तारण किया गया है. शिक्षा विभाग में जन घोषणा पत्र लागू किया गया है. हितकारी निधि की राशि में बढ़ोतरी की गई है. 626 कर्मियों को अनुकम्पा नियुक्ति दी गई है. डोटासरा कहा कि हमारे शिक्षकों में ताकत, जुनून और जज्बा है. इसी के कारण नामांकन में जबर्दस्त बढ़ोतरी हुई है. सरकारी स्कूलों के प्रति लोगों में रुझान बढ़ा है. मंत्री सुभाष गर्ग ने शिक्षकों से अपील करते हुए कहा कि वे स्कूल परिसरों को धूम्रपान मुक्त करें. स्कूलों में ऐसा कोई कृत्य न हो, जिससे शिक्षा के पेशे की गरिमा और मर्यादा पर सवाल उठे.

यह है ननद-भौजाई वाला सरकारी स्कूल, प्राइवेट को भी देता है मात

मुबंई की बारिश का असर, कई ट्रेनें रद्द और डाइवर्ट की, यहां देखें पूरी सूची
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading