लाइव टीवी

पिछड़े सवर्णों को सीएम गहलोत का तोहफा, आरक्षण में भूमि और भवन संंबंधी प्रावधान होगा खत्म

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: October 19, 2019, 4:41 PM IST
पिछड़े सवर्णों को सीएम गहलोत का तोहफा, आरक्षण में भूमि और भवन संंबंधी प्रावधान होगा खत्म
राज्य सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के सामान्य वर्ग के उस हिस्से को फायदा मिलेगा जो संपत्ति संबंधी प्रावधानों के चलते आरक्षण के दायरे से बाहर हो रहे थे. फाइल फोटो

प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने पिछड़े सवर्णों (Backward upper castes) को दीवाली से पहले तोहफा (Diwali gift) देते हुए उनको देय 10 प्रतिशत आरक्षण (10 percent reservation) में आड़े आ रहा भूमि और भवन संबंधी प्रावधान (Provision of land and buildings) खत्म करने का निर्णय (Decision) लिया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने पिछड़े सवर्णों (Backward upper castes) को दीवाली से पहले तोहफा (Diwali gift) देते हुए उनको देय 10 प्रतिशत आरक्षण (10 percent reservation) में आड़े आ रहा भूमि और भवन संबंधी प्रावधान (Provision of land and buildings) खत्म करने का निर्णय (Decision) लिया है. सीएम अशोक गहलोत के इस निर्णय से ईडब्ल्यूएस आरक्षण (EWS Reservation) की जटिलता (Complexity) समाप्त हो जाएगी और लोगों को प्रमाण-पत्र (Certificate) बनवाने में आसानी होगी. राज्य सरकार (State government) इस संबंध में जल्द ही अधिसूचना (Notification) जारी करेगी.

अब वार्षिक आय अधिकतम 8 लाख रुपए ही एकमात्र आधार मानी जाएगी
प्रदेश में सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों (ews) को देय 10 प्रतिशत आरक्षण के लिए अब परिवार की कुल वार्षिक आय अधिकतम 8 लाख रुपए ही एकमात्र आधार मानी जाएगी. इसमें संपत्ति संबंधी प्रावधानों को राज्य सरकार ने समाप्त करने का निर्णय लिया है. राज्य सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के सामान्य वर्ग के उस हिस्से को फायदा मिलेगा जो संपत्ति संबंधी प्रावधानों के चलते आरक्षण के दायरे से बाहर हो रहे थे और उनके ईडब्ल्यूएस के प्रमाण पत्र नहीं बन रहे थे. ईडब्ल्यूएस आरक्षण में संपत्ति संबंधी पात्रता के आड़े आने की वजह से प्रमाण-पत्र बनने में जटिलता सामने आ रही थी. इससे सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को आरक्षण का फायदा नहीं मिल रहा था.

क्षत्रिय युवक संघ प्रमुख ने जताया सीएम का आभार

सीएम गहलोत के इस निर्णय पर कद्दावर राजपूत नेताओं ने उनका आभार जताया है. क्षत्रिय युवक संघ प्रमुख भगवान सिंह रोलसाहबसर ने सीएम को धन्यवाद देते हुए कहा कि अशोक गहलोत ने जटिलताओं को खत्म कर दिया है. इससे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सकारात्मक संदेश मिला है. उल्लेखनीय है कि इस मसले को लेकर पूर्व में कई संगठन सरकार से इस जटिलता को समाप्त करने की मांग कर चुके थे. इसके लिए कई बार उच्च स्तर पर ज्ञापन आदि सौंपे गए थे.

गर्ल्स स्कूलों में 50 साल से कम उम्र के पुरुष शिक्षक नहीं लगेंगे

झुंझुनूं में 'ड्रीमगर्ल' हेमामालिनी को देखने उमड़ी भीड़, पुलिस ने चलाई लाठियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 4:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...