लाइव टीवी

आओ मनाएं 'दीवाली खुशियों वाली', मिट्टी के दीपक जलाएं, जयपुर में छात्राओं ने की शुरुआत

News18 Rajasthan
Updated: October 16, 2019, 8:11 PM IST
आओ मनाएं 'दीवाली खुशियों वाली', मिट्टी के दीपक जलाएं, जयपुर में छात्राओं ने की शुरुआत
समारोह के मेहमानों ने 3 हज़ार दीपक खरीदकर महारानी कॉलेज की छात्राओं को गिफ्ट किए ताकि वे सब अपने घर मिट्टी के दीपक जलाकर ईको फ्रेंडली दीवाली मना सकें. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

इस दिवाली (Diwali) मिट्टी के दीए (Clay lamp) जलाकर हुनरमंदों और जरूरमंदों के घर खुशियां पहुंचाएं. जयपुर (Jaipur) की महारानी गर्ल्स कॉलेज (Maharani Girls College) में बुधवार को इस अनूठे 'दीवाली खुशियों वाली' अभियान (Campaign) की शुरूआत की गई.

  • Share this:
जयपुर. इस दिवाली (Diwali) मिट्टी के दीए (Clay lamp) जलाकर हुनरमंदों और जरूरमंदों के घर खुशियां पहुंचाएं. जयपुर (Jaipur) की महारानी गर्ल्स कॉलेज (Maharani Girls College) में बुधवार को इस अनूठे 'दीवाली खुशियों वाली' अभियान (Campaign) की शुरूआत की गई. अभियान के तहत मिट्टी के दीए बनाने वाले हनुरमंदों से प्रथम चरण में 3 लाख दीए बनवाए गए हैं. अभियान के जरिए ईको फ्रेंडली दीवाली (Eco friendly diwali) मनाने का आह्वान किया जा रहा है.

मेहमानों ने 3 हज़ार दीपक खरीदकर छात्राओं को भेंट किए
अभियान के शुभारंभ समारोह में मुख्य अतिथि कार्मिक विभाग की प्रमुख सचिव रोली सिंह ने संकल्प-पत्र भरकर मिट्टी के दीपक खरीदे और छात्राओं से ईको फ्रेंडली दीवाली मनाने का आह्वान किया. उन्होंने छात्राओं से कहा कि वे पूरे मन से ऐसे सामाजिक कार्यों से जुड़ें और कुछ अलग करके दिखाएं. समारोह के मेहमानों ने 3 हज़ार दीपक खरीदकर महारानी कॉलेज की छात्राओं को गिफ्ट किए ताकि वे सब अपने घर मिट्टी के दीपक जलाकर ईको फ्रेंडली दीवाली मना सकें. कॉलेज के ऑडिटोरियम में आयोजित इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्राएं मौजूद थीं.

हुनरमंदों और जरूरतमंदों की दिवाली खुशियों वाली बनाएं

समारोह में सामाजिक कार्यकर्ता और अभियान के प्रदेश संयोजक श्रवण सिंह राठौड़ ने कहा की अभी ये अभियान जयपुर, किशनगढ़, अजमेर और उदयपुर में चल रहा है. इसे जल्द ही पूरे राजस्थान में बढ़ाया जाएगा. उन्होंने बताया कि इस अभियान के प्रणेता जैन संत सागर महाराज का मानना है कि दिवाली पर लोग मिट्टी के दीए जलाएंगे तो उन हुनरमंदों और जरूरतमंदों की दिवाली भी खुशियों वाली हो सकती है, जो पिछले कुछ वर्षों से बाजार में आए चाइनीज सामान के कारण अपना सामान बिकने का इंतजार करते रहते हैं.

लड़कियां ही परिवार की धुरी होती हैं
बकौल राठौड़ जयपुर में करीब 15 जगह स्टॉल, ठेले और फुटपाथ पर ये दीपक बेचे जा रहे हैं. इससे जो पैसा आ रहा है, वह इन हुनरमंदों के पास जा रहा है. वहीं जरूरतमंदों और बेरोजगारों को ये निशुल्क दिए जा रहे हैं. अभियान की शुरुआत महारानी कॉलेज से इसलिए की गई है कि क्योंकि लड़कियां ही परिवार की धुरी होती हैं. इन्हें प्रेरित किया जाए तो पूरा परिवार प्रेरित हो सकता है.
Loading...

ऐसे अभियानों का असर बहुत नीचे तक जाता है
विशिष्ट अतिथि राजस्थान विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो. जयंत सिंह ने कहा कि समाज का सभ्रांत तबका ऐसे अभियान से जुड़ता है तो इसका असर बहुत नीचे तक जाता है. ऐसे में सबको इस अभियान से जुड़ना चाहिए. अध्यक्षता कर रहीं महारानी कॉलेज की प्रिंसिपल प्रो. निधिलेखा शर्मा ने समाज के मध्यम और उच्च वर्ग से मिट्टी के दीपकों से दीवाली मनाने का आह्वान किया.
समारोह के विशिष्ट अतिथि सीमा कावत, महारानी कॉलेज छात्रसंघ की अध्यक्ष आकृति तिवाड़ी और छात्र नेता संजय माचेड़ी थे.

जयपुर: 416 पुलिसकर्मी तैनात हैं इस थाने में, 7 साल में महज 59 मामले हुए दर्ज

निकाय चुनाव: 19 अक्टूबर को निकाली जाएगी निकाय प्रमुख और मेयर की लॉटरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 8:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...