Rajasthan: ब्यूरोक्रेसी में टकराव या मतभेद ! CS डीबी गुप्ता ने की IAS अधिकारियों की काउंसलिंग
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: ब्यूरोक्रेसी में टकराव या मतभेद ! CS डीबी गुप्ता ने की IAS अधिकारियों की काउंसलिंग
सीएस गुप्ता ने कहा कि यदि दोनों अफसर निर्देशों की अवहेलना करते हैं तो फिर तबादला करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है.

कोराना संकट (COVID-19) के समय में भी राज्य की ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. आईएएस अधिकारियों (IAS Officers) में तनातनी की खबरें छन छनकर आ रही हैं. टकराव का दौर बदस्तूर जारी है.

  • Share this:
जयपुर. कोराना संकट (COVID-19) के समय में भी राज्य की ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. आईएएस अधिकारियों (IAS Officers) में तनातनी की खबरें छन छनकर आ रही हैं. टकराव का दौर बदस्तूर जारी है. पंचायतीराज विभाग (Panchayati Raj Department) में दो आईएएस अधिकारियों में चल रहे टकराव की आवाजें अब सचिवालय से बाहर आने लग गई हैं. विभाग के एसीएस राजेश्वर सिंह और विशिष्ठ सचिव आरुषि अजय मलिक में चल रहे तनाव के बाद अब ब्यूरोक्रेसी के मुखिया चीफ सेक्रेट्री डीबी गुप्ता ने इस मामले में दखल दिया है. लेकिन उन्होंने ब्यूरोक्रेसी में टकराव होने से स्पष्ट इनकार किया है.

दो अफसरों के भिन्न विचार टकराव नहीं
मुख्य सचिव डीबी गुप्ता का कहना है कि आईएएस अफसरों में कामकाज को लेकर मतभेद जरूर है, लेकिन टकराव जैसी कोई बात नहीं है. मुख्य सचिव ने कहा कि किसी महत्वपूर्ण मीटिंग में दो अफसर अपने-अपने विचार रखते हैं. विचार भिन्न रखना तनातनी नहीं है. एक जैसे विचार होना जरूरी नहीं है.

ब्यूरोक्रेट्स कार्य प्रणाली में सुधार करे



मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने पंचायतीराज विभाग के दो अधिकारियों राजेश्वर सिंह और आरुषि अजय मलिक के मामले पर कहा अफसरों को अपनी कार्य प्रणाली में सुधार करना चाहिए. अधिकारों के दायरे में रहकर ही काम करना चाहिए. बिजनेस रूल्स में पावर का वर्गीकरण किया गया है. उसी के हिसाब से काम करना चाहिए. पावर सीज करने का अधिकार नहीं है. एक स्पष्ट गाइडलाइन बनी हुई है. उसके तहत ब्यूरोक्रेट्स तो काम करना होता है.



टकराव जैसी स्थिति होने पर काउंसलिंग की जाती है
मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि आईएएस अफसरों के बीच टकराव जैसी स्थिति होने पर काउंसलिंग की जाती है. ग्रामीण पंचायती राज विभाग के दोनों अफसरों की अलग-अलग से काउंसलिंग की गई है. दोनों के विचार सुने हैं और उन्हें सरकार द्वारा तय किए गए मानकों के अनुसार ही काम करने के निर्देश दिए गए हैं. यदि दोनों अफसर निर्देशों की अवहेलना करते हैं तो फिर तबादला करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है.

Rajasthan: सचिवालय के वॉर रूम का अधिकारी Corona Positive, मचा हड़कंप

जयपुर-जोधपुर समेत इन इलाकों में बारिश की संभावना, गर्मी से राहत की उम्‍मीद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading