लाइव टीवी

सोनिया गांधी ने फैक्ट्री मालिकों से की अपील, सवैतनिक अवकाश दें, ना लें किसी की नौकरी
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: March 27, 2020, 7:45 AM IST
सोनिया गांधी ने फैक्ट्री मालिकों से की अपील, सवैतनिक अवकाश दें, ना लें किसी की नौकरी
सोनिया गांधी ने कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉलिंग के जरिये बातचीत की.

वीडियो कांफ्रेंस के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस शासित सभी चारों राज्यों के मुख्यमंत्री यह सुनिश्चित करें कि गरीबों तथा जरूरतमंदों को कोरोना संकट के कारण भूखे नहीं सोना पड़े.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संकट (Coronavirus Crisis) को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सहित सभी कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से फ़ीडबैक लिया. सोनिया गांधी ने लॉकडाउन के दौरान गरीब और वंचित तबके को हो रही असुविधा, उनके खाने की व्यवस्था पर खास फोकस करते हुए मुख्यमंत्रियों से पूछताछ की. वीडियो कांफ्रेंस के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस शासित सभी चारों राज्यों के मुख्यमंत्री यह सुनिश्चित करें कि गरीबों तथा जरूरतमंदों को कोरोना संकट के कारण भूखे नहीं सोना पड़े. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी तथा कांग्रेस शासित चारों राज्यों के मुख्यमंत्री केन्द्र सरकार पर गरीबों तथा समाज के पिछड़े लोगों की अधिक से अधिक मदद के लिए दबाव बनाएंगे.

वायरस के ट्रांसफर को रोकने के लिए हम हर जरूरी कदम उठाएंगे

सीएम अशोक गहलोत ने भी सोनिया गांधी को कोरोना को लेकर राजस्थान सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी. गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन के कारण किसी भी गरीब को भूखा नहीं सोना पड़े, यह हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है. संकट की इस घड़ी में दिहाड़ी पर अपना जीवनयापन करने वाले कामगारों, खेतिहर मजदूरों, निर्माण श्रमिकों सहित सभी जरूरतमंदों को राशन एवं भोजन सामग्री पहुंचाने में सरकार कोई परेशानी नहीं आने देगी. हम हर वह कदम उठाएंगे जिससे कम्यूनिटी में इस वायरस के ट्रांसफर को रोका जा सके.

एनएफएसए से जुड़े परिवारों को दो माह का राशन



कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि राजस्थान देश का पहला राज्य है जिसने कम्यूनिटी में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए 31 मार्च तक के लॉकडाउन का निर्णय किया. गरीबों को लॉकडाउन के कारण भूखा नहीं सोना पड़े, इसके लिए हमारी सरकार ने एनएफएसए से जुड़े परिवारों को दो माह का नि:शुल्क राशन देने का निर्णय किया है.

310 करोड़ रुपये जारी किए

सोनिया गांधी ने कहा कि हमने फैक्ट्री मालिकों से अपील की है कि लॉकडाउन की अवधि में श्रमिकों को सवैतनिक अवकाश दिया जाए तथा उन्हें आजीविका से नहीं निकाला जाए. जिन लोगों की रोजी-रोटी लॉकडाउन के कारण तुरंत प्रभावित हुई है उन्हें सरकार प्रति परिवार एक हजार रूपए देगी. इसके लिए 310 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं.

हर परिवार अपने अतिरिक्त दो परिवारों का बनाए खाना

शहरी क्षेत्रों में दिहाड़ी मजदूरों, स्ट्रीट वेंडर्स और कच्ची बस्तियों में रहने वाले जरूरतमंद परिवारों जो एनएफएसए में कवर नहीं हैं, को फूड पैकेट उपलब्ध कराने के लिए जिला कलक्टरों को अनटाइड फंड दिया गया है. प्रदेश के जरूरतमंद परिवारों के लिए 2 हजार करोड़ रुपए का रिलीफ पैकेज घोषित किया गया है. राज्य में 78 लाख सामाजिक सहायता पेंशन के लाभार्थियों को दो माह की पेंशन एक साथ देने के लिए बजट जारी किया जा रहा है. हर परिवार अपने अतिरिक्त दो गरीबों के लिए खाना बनाए, इसकी अपील भी सोनिया गांधी ने की.

ये भी पढ़ें: भीलवाड़ा में कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत, राजस्‍थान में 2 नए मामले आए सामने

Lockdown: सेल्फ आइसोलेशन का अनूठा तरीका, घर पर ताला लगाकर नोटिस चिपकाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 7:39 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर