..तो इसलिए कांग्रेस सरकार के मंत्री ने दिया BJP का साथ, डिप्टी CM पायलट से की ये मांग
Jaipur News in Hindi

..तो इसलिए कांग्रेस सरकार के मंत्री ने दिया BJP का साथ, डिप्टी CM पायलट से की ये मांग
राजस्थान डिप्टी CM सचिन पायलट. (फाइल फोटो

राजस्थान (Rajasthan) के नागौर जिले के मकराना विधानसभा से बीजेपी (BJP) के विधायक रूपाराम मुरावतिया ने एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट के जरिये उन्होंने राजस्थान के उपमुख्यमंत्री से भीषण गर्मी को देखते हुए मनरेगा श्रमिकों का कार्य समय कम करने की मांग की है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के मरुधरा में पारा जब 45 डिग्री को पार कर चुका है, उस दौर में भी तपती धूप और लू में मनरेगा (MGNREGA) योजना में श्रमिक रोजगार के खातिर काम करने में व्यस्त हैं,  लेकिन, अब इस भीषण गर्मी का हवाला देते हुए बीजेपी ने मनरेगा श्रमिकों का कार्य समय कम करने की मांग राज्य सरकार से कर डाली है. मजे की बात ये है कि बीजेपी को इस मांग में सरकार के एक कैबिनेट मंत्री का भी साथ मिला है. दोनों ने मनरेगा में काम के समय की सीमा करने की मांग राज्य सरकार से की है.

दरअसल, राजस्थान के नागौर जिले के मकराना विधानसभा से बीजेपी के विधायक रूपाराम मुरावतिया ने एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट के जरिये उन्होंने राजस्थान के उपमुख्यमंत्री से भीषण गर्मी को देखते हुए मनरेगा श्रमिको का कार्य समय कम करने की मांग की है. बीजेपी विधायक रूपाराम मुरावतिया ने अपने ट्वीट में लिखा है कि  "प्रिय सचिन पायलट, अभी समुचे राजस्थान में भीषण गर्मी का प्रकोप है और इससे सबसे ज्यादा मनरेगा श्रमिक प्रभावित हो रहै हैं. भीषण गर्मी से मजदूरों का बीमार होना सामने आया है. श्रमिकों के हित में संज्ञान लेकर मनरेगा का समय सुबह 6 से 10 बजे तक किया जाए एवं श्रमिकों को राहत दें।"

सरकार के मंत्री का मिला समर्थन
ख़ास बात ये है कि बीजेपी विधायक रूपाराम मुरावतिया की इस मांग को कांग्रेस सरकार के कद्दावर कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह का भी समर्थन मिला है. पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने रूपाराम  मुरावतिया के इस ट्वीट को रिट्वीट किया है. इसमें उन्होंने काम के समय को कम करने की मांग का समर्थन किया है.



फिलहाल दोपहर 1 बजे तक करना होता है काम


वर्तमान में राजस्थान में मनरेगा श्रमिको का कार्य समय सुबह 6 से दोपहर 1 बजे तक है. लॉकडाउन 4 में यानि अप्रैल माह में लोगो को रोजगार देने के लिए जब उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के निर्देश पर लोगों को काम देना शुरू किया गया था, उसके कुछ दिन बाद ही मनरेगा आयुक्त पीसी किशन ने गर्मी को देखते हुए दिनभर काम करवाने की बजाय सुबह 6 से दोपहर 1 बजे तक कार्यसमय करने के निर्देश दिए थे.

कार्य समय कम करना नही आसान
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग से जुड़े लोगो की माने तो कार्य समय कम नहीं किया जा सकता है. क्योंकि, मनरेगा में श्रमिकों को टास्क दिया जाता है. ऐसे में वो कम समय में उसे पूरा नही कर पाएंगे तो उन्हें भुगतान भी पूरा नही मिल सकता है. लिहाजा, कार्य समय को कम करना आसान नहीं है.

ये भी पढ़ें:
Lockdown: दूल्हा नहीं जुटा पाया साहस तो बारात लेकर ससुराल पहुंची दुल्हन, फिर..

राजस्थान में हवाई यात्रा आज से शुरू, इन बातों का रखना होगा ख्याल, एक क्लिक में पढ़ें- सरकार की गाइडलाइन
First published: May 26, 2020, 6:18 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading