Rajasthan Politics: कांग्रेस MLA भंवरलाल शर्मा बोले- सचिन पायलट से ऊपर हैं अशोक गहलोत

विधायक शर्मा ने सुलह कमेटी के सवाल पर कहा कि ये लॉलीपॉप होती हैं. कमेटियां मामले को शांत करने के लिए बनाई जाती हैं.

Congress MLA Bhanwarlal Sharma's Big Statement: राजस्थान में गत वर्ष सियासी संकट के समय पायलट गुट के साथ मानेसर बाड़ाबंदी में रहने वाले कांग्रेस विधायक पंडित भंवरलाल शर्मा ने अब मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के प्रति अपनी वफादारी जताई है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम में अब कांग्रेस (Congress) के एक-एक विधायक सामने आकर अपने-अपने नेताओं के प्रति प्रतिबद्धता जाहिर कर रहे हैं. इसी क्रम में मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं चूरू के सरदारशहर से विधायक पंडित भंवरलाल शर्मा (MLA Bhanwarlal Sharma) ने जयपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सीएम गहलोत के प्रति अपनी वफादारी जताई है. शर्मा ने कहा कि मैं सचिन पायलट को भी नेता मानता हूं, लेकिन अशोक गहलोत उनसे भी ऊपर हैं.

आपको बता दें कि भंवरलाल शर्मा गत वर्ष राजस्थान में आए सियासी संकट के समय पायलट गुट के साथ मानेसर बाड़ाबंदी में थे. उसके बाद शर्मा फोन टैपिंग के मामले में भी काफी चर्चित रहे थे. भंवरलाल शर्मा ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को उनका हक मिलना चाहिए. बकौल शर्मा, मैंने भी कभी सरकार गिराने की कोशिश की थी, लेकिन अशोक गहलोत ने मेरा साथ नहीं दिया. वरना मैं भी सीएम होता. उस बात का मलाल आज भी है.

दो महीने तक नहीं होगा मंत्रिमंडल विस्तार
भंवरलाल शर्मा ने प्रदेश के ताजा सियासी घटनाक्रम पर चर्चा करते हुए कहा कि दो महीने तक सीएम किसी से मिलने वाले नहीं हैं. दो महीने तक मंत्रिमंडल विस्तार नहीं होगा. उन्होंने कहा कि गहलोत मेरे नेता हैं. सीएम ने जो वादे किए वो पूरे हो रहे हैं. जनता के काम नहीं हो रहे थे इसलिए मानेसर गया था. मेरी भी सीएम बनने की इच्छा थी, लेकिन कई बार इच्छा का दमन करना पड़ता है.

राहुल गांधी अब मैच्योर हो गए हैं
कांग्रेस विधायक ने कहा कि सचिन पायलट से भी उनके अच्छे संपर्क हैं. उन्‍हें पद की कोई इच्छा नहीं है. सचिन पायलट बीजेपी में नहीं जाएंगे. शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी अब मैच्योर हो गए हैं. राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहिए. प्रदेश प्रभारी अपना काम कर रहे हैं. स्टेटमेंट देना और काम होना अलग बात है. आज पता नहीं चलता. सुबह मैं किसी के साथ हूं, शाम को किसी और के साथ. राजनीति में यह सब चलता रहता है. गहलोत मेरे नेता थे और रहेंगे. मेरी मंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं है. सीएम बनाए तो भी नहीं बनूंगा.

कमेटियां लॉलीपॉप होती हैं
फोन टैपिंग पर शर्मा ने कहा कि किसी विधायक के फोन टेप नहीं हो रहे हैं. वहीं, सुलह कमेटी के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये लॉलीपॉप होती हैं. कमेटियां मामले को शांत करने के लिए बनाई जाती हैं. इस दौरान शर्मा ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वहां पार्टी के भीतर गुटबाजी बहुत ज्यादा है. शर्मा ने सीएम गहलोत से विप्र कल्याण बोर्ड बनाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि इसका जल्द ही गठन होना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.