लाइव टीवी

कांग्रेस MLA ने सदन में अपनी ही सरकार को घेरा, बोले- CM हमारे ड्राइवर हैं, पहिया पंचर हो तो उसे बदलना चाहिए
Jaipur News in Hindi

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: February 13, 2020, 5:14 PM IST
कांग्रेस MLA ने सदन में अपनी ही सरकार को घेरा, बोले- CM हमारे ड्राइवर हैं, पहिया पंचर हो तो उसे बदलना चाहिए
कांग्रेस विधायक भरत सिंह ने सदन में अपनी ही सरकार पर साधा निशाना

पूर्व मंत्री और सांगोद से कांग्रेस विधायक भरत सिंह (Congress MLA Bharat Singh) ने विधानसभा में अपनी ही सरकार को खरी-खरी सुनाई है. उन्‍होंने कहा कि राजस्थान में हम ड्राइविंग सीट पर हैं और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) हमारे ड्राइवर हैं. पहिया पंचर हो तो ड्राइवर को उसे बदलना चाहिए नहीं तो गाड़ी सही नहीं चलेगी.

  • Share this:
जयपुर. अपने बेबाक बयानों से चर्चा में रहने वाले पूर्व मंत्री और सांगोद से कांग्रेस विधायक भरत सिंह (Congress MLA Bharat Singh) ने विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर बहस के दौरान सरकार को खरी खरी सुनाई. उन्‍होंने कहा कि आज हमारी प्रशासनिक व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो रही है. मैं सरकार की तारीफ या आलोचना करने नहीं खड़ा हुआ हूं. राजस्थान में हम ड्राइविंग सीट पर हैं और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) हमारे ड्राइवर हैं. पहिया पंचर हो तो ड्राइवर को उसे बदलना चाहिए नहीं तो गाड़ी सही नहीं चलेगी.

विधायक ने सदन में किए ये सवाल
कांग्रेस भरत सिंह ने कहा, 'आदर्श गांव आपने बना तो दिए, लेकिन इनकी मॉनिटरिंग कौन करेगा. मुख्‍यमंत्री ने नवंबर महीने में आदर्श ग्राम योजना की घोषणा की थी. हमारी सरकार ने गांधी के नाम पार ये आदर्श गांव बनाए हैं. कम से आदर्श गांवों में तो शराब बंदी की घोषणा करें. शराब राजस्व बढ़ाने का जरिया नहीं हो, लेकिन आपने तो शराब से 10 फीसदी ज्यादा राजस्व बढ़ाने का टारगेट देकर, ज्यादा शराब पीने का टारगेट दे दिया है.

नगर निगम को लेकर कही ये बात

विधायक भरत सिंह ने कहा, 'आपने तीन नए नगर निगम बना दिए हैं. जब शहर इतने बड़े हैं तो कलेक्टर दो क्यों नहीं लगा देते. कोटा में अफसर आते हैं, अपने बच्चें को पढ़ाने के हिसाब से कोटा में पोस्टिंग करवा लेते हैं. जबकि कलेक्टर को गांव में जाकर लोगों की समस्याएं सुनने का वक्त नहीं होता है.

 

 दोनों सरकारें अच्छी योजनाएं लाती हैं
सरकार चाहे भाजपा की हो या कांग्रेस की, दोनों के वक्त अच्छी योजनाएं आती हैं, फिर भी क्या कारण हैं कि सरकारें रिपीट नहीं होती हैं. योजनाओं की सर्विस डिलीवरी का सिस्टम लड़खड़ा गया है. इसीलिए राजस्थान में सरकारें रिपीट नहीं होती हैं. कांग्रेस विधायक ने कहा कि आज हमारी प्रशासनिक व्यवस्था जो बदलती नहीं है वह छिन्न-भिन्न हो गई है. हम टिड्डियों से डर रहे हैं, लेकिन टिड्डियों से ज्यादा तो हम हो गए हैं. जबकि जनसंख्या नियंत्रण पर सदन में कोई चर्चा नहीं करता है.

 

ये भी पढ़ें-

आयकर विभाग की 41 जगह रेड, मार्बल-रियल एस्टेट कारोबारियों में मची खलबली

 

विधानसभाध्यक्ष ने लगाई मंत्रियों को फटकार, कहा- चैम्बरों पर ताला लगवा दूंगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 5:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर