Home /News /rajasthan /

Rajasthan: कांग्रेस चली बीजेपी की राह पर, प्रदेशभर में बनायेगी अपने खुद के कार्यालय

Rajasthan: कांग्रेस चली बीजेपी की राह पर, प्रदेशभर में बनायेगी अपने खुद के कार्यालय

पार्टी दफ्तरों के भवन बनाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चंदा जुटाया जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

पार्टी दफ्तरों के भवन बनाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चंदा जुटाया जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

लंबे समय तक प्रदेश में सत्ता में रही कांग्रेस (Congress) अब बीजेपी की राह पर है. कांग्रेस भी बीजेपी (BJP) की तरह प्रदेशभर में अपने खुद के कार्यालय बनायेगी. इसकी कवायद शुरू कर दी गई है.

जयपुर. कांग्रेस भी बीजेपी (BJP) की तर्ज पर अब प्रदेश के सभी जिलों और ब्लॉक मुख्यालयों पर पार्टी दफ्तरों के भवन बनाएगी. कांग्रेस (Congress) में इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इसके लिए सत्ता और संगठन (Power and organization) मिलकर काम में जुटे हैं. इसी साल कई जगह पार्टी के नए दफ्तरों के लिए जमीन आवंटन से लेकर भवन बनाने का काम शुरू हो जाएगा.

राजधानी जयपुर में भी प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) का दफ्तर दूसरी जगह शिफ्ट होगा. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने पीसीसी के दफ्तर के लिए राजधानी में जगह तलाशना शुरू कर दिया है. 3 जगह चिन्हित भी कर ली गई है. जल्द ही जगह फाइनल करके नई जगह पीसीसी भवन का शिलान्यास करने की भी तैयारी है. पीसीसी का मौजूदा दफ्तर भीड़भाड़ वाली जगह होने के कारण अब यह आम आदमी से लेकर नेताओं तक के लिए असुविधा का सबब बन गया है. कोई भी कार्यक्रम होने पर यहां जाम के हालात बन जाते हैं.

कांग्रेस के 400 ब्लॉक कार्यालय और 39 जिला कार्यालय हैं
कांग्रेस में जिला और ब्लॉक स्तर भी पार्टी के दफ्तरों के लिए जमीन की तलाश शुरू कर दी गई है. कई जिलों में जिला कांग्रेस कमेटी और ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों के दफ्तर किराए के भवनों में चल रहे हैं. राजधानी जयपुर तक में जिला कांग्रेस कमेटी का खुद का भवन नहीं है. कांग्रेस लंबे समय तक सत्ता में रही लेकिन अब भी बहुत सी जगह उसके पार्टी दफ्तरों के भवन नहीं हैं. जबकि कांग्रेस के 400 ब्लॉक कार्यालय और 39 जिला कार्यालय हैं.

संगठन और सत्ता जॉइंट वेंचर के तहत यह काम हाथ में ले रहे हैं
पार्टी दफ्तरों के भवन बनाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चंदा जुटाया जाएगा. सीएम अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंदसिंह डोटासरा इसकी घोषणा कर चुके हैं. सबसे लंबे समय तक सत्ता में रहने के बावजूद पार्टी के बहुत सी जगहों पर खुद के कार्यालय भवन नहीं होने को लेकर कई नेता समय समय पर इसे लेकर सवाल भी उठाते रहे हैं. इस बार कांग्रेस संगठन और सत्ता जॉइंट वेंचर के तहत यह काम हाथ में ले रहे हैं.

जमीन आवंटन की नई नीति लाई जा रही है
कांग्रेस ने इसके लिए कमेटी भी बना दी है. सरकार मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को दफ्तर बनाने के लिए जमीन आवंटन की नई नीति भी लेकर आ रही है. बीजेपी ने जब 4 साल पहले सभी जिलों में दफ्तर बनाए थे तब कांग्रेस ने खूब सवाल उठाए थे. अब कांग्रेस भी उसी तर्ज पर दफ्तर बनाने जा रही है तो सवाल उठाने की बारी बीजेपी की है.

Tags: Ashok Gahlot, BJP, Congress, Rajinikanth Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर