• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान कांग्रेस की नब्ज टटोल अजय माकन बोले- 'मैं ही दिल्ली हूं ', किस ओर है इशारा 

राजस्थान कांग्रेस की नब्ज टटोल अजय माकन बोले- 'मैं ही दिल्ली हूं ', किस ओर है इशारा 

दिल्ली लौटने से पहले अजय माकन ने दिया बड़ा बयान.

दिल्ली लौटने से पहले अजय माकन ने दिया बड़ा बयान.

Rajasthan Politics: तीन दिनों का संवाद कार्यक्रम खत्म कर अजय माकन (Ajay Maken) दिल्ली (Delhi) लौट गए. उन्होंने कहा कि सरकार और संगठन में कैसे बेहतर समन्वय हो और 2023 में सरकार कैसे रिपीट हो, इसे लेकर चर्चा की गई. जब माकन से दिल्ली जाकर आलाकमान को रिपोर्ट सौंपने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं ही दिल्ली हूं.

  • Share this:

जयपुर. कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) तीन दिन तक प्रदेश में सत्ता और संगठन की नब्ज टटोलने के बाद वापस दिल्ली (Delhi) लौट गए हैं. दौरे के आखिरी दिन शुक्रवार को माकन मीडिया से मुखातिब हुए तो कई सियासी मसलों पर स्पष्ट संकेत देकर गए. माकन ने कहा कि संवाद के दौरान कई मंत्रियों ने कहा है कि वे मंत्रिमंडल छोड़कर संगठन के लिए काम करने को भी तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति की अपेक्षाएं और आकांक्षाएं होती है, लेकिन खुशी है कि ऐसे मंत्री और विधायक भी हैं जो संगठन के लिए काम करने को आतुर हैं और ऐसे लोगों पर हमें गर्व है.

माकन ने कहा कि इन लोगों ने मुझे मेरा खुद का भी उदाहरण दिया जब 2013 में मैं कैबिनेट से इस्तीफा देकर राहुल गांधी के साथ महासचिव बना था. माकन के इस बयान को उन अटकलों पर मुहर बताया जा रहा है जिसमें कहा जा रहा है कि प्रदेश में मौजूदा मंत्रिमंडल से कई मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है. नॉन परफॉर्मर मंत्रियों को मंत्रिमंडल से हटाकर संगठन में जगह दी जा सकती है.

‘मैं ही दिल्ली हूं’

जब माकन से दिल्ली जाकर आलाकमान को रिपोर्ट सौंपने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं ही दिल्ली हूं. माकन के इस बयान के भी कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. ऐसा माना जा रहा है कि प्रदेश के सियासी मसलों को लेकर होमवर्क पूरा किया जा चुका है और माकन ने जो तय कर दिया है उस पर अब बस आलाकमान की मुहर लगना बाकी है. माकन ने कहा है कि कांग्रेस में हर कोई आलाकमान पर विश्वास रखता है और जिसकी जो भूमिका आलाकमान तय करेगा वह सबको मंजूर होगा. माकन ने कहा कि अच्छे लोगों की अच्छी जगह नियुक्तियां होंगी और जल्द होंगी. माकन के बयानों से माना जा रहा है कि कुछ मंत्रियों की मंत्रिमंडल से छुट्टी तय है और मंत्रिमंडल में बड़े स्तर पर बदलाव होंगे. वहीं राजनीतिक नियुक्तियां और संगठनात्मक नियुक्तियां भी अब जल्द होने की संभावना है.

पदाधिकारियों से की चर्चा

दो दिन तक विधायकों से वन-टू-वन संवाद करने के बाद आज माकन ने पीसीसी में पदाधिकारियों से चर्चा कर सत्ता और संगठन से जुड़े मसलों पर उनके सुझाव जानें. अपने दौरे में माकन ने विधानसभा में 115 विधायकों से चर्चा की तो सीएम गहलोत, विधासभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट से अलग से बात हुई. आज पीसीसी में प्रदेश पदाधिकारियों के साथ ही अग्रिम संगठनों के अध्यक्षों से संवाद हुआ. आज पीसीसी में हुई बैठक में भाजपा और आरएसएस के खिलाफ निन्दा प्रस्ताव भी पारित किया गया. अजय माकन ने कहा कि पदाधिकारियों ने आरएएस परीक्षा मामले में पीसीसी चीफ का समर्थन किया है और पूरी पार्टी उनके साथ खड़ी है. अजय माकन ने कहा है कि सरकार और संगठन में कैसे बेहतर समन्वय हो और 2023 में सरकार कैसे रिपीट हो इसे लेकर इन संवाद कार्यक्रमों में चर्चा की गई है. माना जा रहा है कि माकन के इस मंथन के जल्द ही प्रदेश की राजनीति में बड़े परिणाम देखने को मिलेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज