Home /News /rajasthan /

congress politics in political science paper in rajasthan union education ministry sought reply from department rjsr

राजनीति विज्ञान के पेपर में 'कांग्रेस राजनीति', केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने विभाग से मांगा जवाब

शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने सफाई देते हुये कहा कि बोर्ड एक स्वायतशासी संस्था है. प्रश्न-पत्र तैयार करना बोर्ड का अपना अधिकार है.

शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने सफाई देते हुये कहा कि बोर्ड एक स्वायतशासी संस्था है. प्रश्न-पत्र तैयार करना बोर्ड का अपना अधिकार है.

राजस्थान में राजनीति विज्ञान के पेपर में कांग्रेस राजनीति: केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (Union Ministry of Education) में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं कक्षा के राजनीति विज्ञान के पेपर में कांग्रेस (Congress) से जुड़े 6 सवाल पूछने पर शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर इस संबंध में जवाब मांगा है. राजनीति विज्ञान के इस पेपर मुद्दे पर प्रदेश में राजनीति गरमाई हुई है. इस मुद्दे को लेकर बीजेपी राजस्थान की गहलोत सरकार पर हमलावर हो रही है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

पेपर में कांग्रेस से जुड़े कुल 6 सवाल पूछे गये थे
बीजेपी ने कहा ये बोर्ड परीक्षा का राजनीतिकरण है

जयपुर. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (Union Ministry of Education) ने राजस्थान के शिक्षा विभाग को 12वीं कक्षा के राजनीति विज्ञान के प्रश्न-पत्र में कांग्रेस से जुड़े सवाल पूछे जाने पर पत्र लिखकर जवाब मांगा है. इस प्रश्न-पत्र में कथित तौर पर कांग्रेस पार्टी (Congress) की 6 उपलब्धियों के बारे में पूछा गया था. हाल ही में राजस्थान बोर्ड की बारहवीं कक्षा की परीक्षा में राजनीति विज्ञान के पेपर में कांग्रेस से जुड़े सवाल पूछे गए थे. इसको लेकर बीजेपी ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर निशाने साधे. बीजेपी ने कहा कि राजस्थान की सरकार कांग्रेस आलाकमान को खुश करने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रही है.

दरअसल राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आयोजित 12वीं कक्षा के राजनीतिक विज्ञान की परीक्षा का पेपर पिछले गुरुवार को सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था. इस प्रश्न-पत्र में कांग्रेस से जुड़े सवालों को लेकर सीधे तौर पर राजस्थान की कांग्रेस सरकार को कटघरे में खड़ा किया गया था. इस प्रश्न-पत्र में कुल 6 प्रश्न ऐसे थे जो सीधे तौर पर कांग्रेस से जुड़े थे. इन प्रश्नों को एक साथ जोड़ कर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल कर प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए गये थे.

ये प्रश्न पूछे गए थे प्रश्न-पत्र में

1. 1984 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने कुल कितनी सीटें जीती थी ?
2. भारत के प्रथम 3 आम चुनावों में किस दल का प्रभुत्व रहा ?
3. ‘गरीबी हटाओ’ का नारा किसने दिया ?
4. कांग्रेस की सामाजिक एवं विचारधारात्मक गठबंधन के रूप में संक्षिप्त विवेचना कीजिए.
5. कांग्रेस ने 1967 का आम चुनाव किन परिस्थितियों में लड़ा व इसका क्या जनादेश मिला ? विवेचना कीजिए.
6. ‘आम चुनाव 1971 कांग्रेस की पुनर्स्थापना का चुनाव साबित हुआ. इस कथन की व्याख्या कीजिए.

यह कहा केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने
शिक्षा मंत्रालय ने पत्र में कहा है कि ‘प्रश्न पत्र की प्रासंगिक प्रतियों के साथ मीडिया के एक वर्ग में समाचार प्रकाशित हुआ है. इस समाचार को लेकर राज्य सरकार की टिप्पणियां और संबंधित जानकारी विभाग को भेजी जा सकती हैं.’

शिक्षा मंत्री बोले सरकार का कोई दखल नहीं है
प्रश्न-पत्र पर बवाल मचने के बाद राजस्थान के शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने सफाई देते हुये कहा कि बोर्ड एक स्वायतशासी संस्था है. प्रश्न-पत्र तैयार करना बोर्ड का अपना अधिकार है. सरकार का इसमें कोई दखल नहीं रहता है. दूसरी तरफ कांग्रेस से जुड़े इतने सवाल पूछने पर बीजेपी ने सवाल खड़े कर दिए. बीजेपी ने आरोप लगाया कि ये बोर्ड परीक्षा का राजनीतिकरण है. बीजेपी ने आरोप लगाया कि पहले बोर्ड ने पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप का अपमान किया. अब वह कांग्रेस को खुश करने की कोशिश कर रहा है.

स्कूल व्याख्याता ने दिये ये तर्क
चूरू के राजगढ़ इलाके के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बिरमी खालसा के राजनीति विज्ञान के स्कूल व्याख्याता दिनेश महला ने बताया कि प्रश्न-पत्र में कोई भी सवाल सिलेबस से बाहर का नहीं है. इस प्रश्न पत्र में बहुविकल्पीय, रिक्त स्थान, अतिलघु उत्तरात्मक, लघु उत्तरात्मक, दीर्घ उत्तरीय और निबंधात्मक प्रश्नों की कुल संख्या करीब 60 से ज्यादा है. कुल 60 प्रश्नों में से 6 प्रश्न कांग्रेस से जुड़े होना स्वाभाविक है. एनसीईआरटी की ओर से तैयार किए गए सिलेबस में जो बिंदु दिए गए हैं उन्हीं में से प्रश्न पूछे गए हैं.

(इनपुट-भाषा)

Tags: Ashok Gehlot Government, Education news, Jaipur news, Rajasthan education board, Rajasthan news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर