मास बेस के साथ कैडर बेस का मॉडल अपनाएगी कांग्रेस, तैयार किए जाएंगे 'प्रेरक'

कांग्रेस (Congress) बीजेपी (BJP) के विस्तारक मॉडल (Expander model) की तर्ज पर अब संगठन को मजबूत (Strength) करने के लिए 'प्रेरक मॉडल' (Motivational model) का सहारा ले रही है. कांग्रेस ​ने लगातार हार के बाद संगठन को मजूबत करके कैडर तैयार करने का फैसला किया है.

Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: September 8, 2019, 4:57 PM IST
मास बेस के साथ कैडर बेस का मॉडल अपनाएगी कांग्रेस, तैयार किए जाएंगे 'प्रेरक'
कांग्रेस अब अपने संगठन को मजबूत करने के लिए बीजेपी के मॉडल को अपनाकर उसे टक्कर देने की कवायद में जुट गई है. बीजेपी के विस्तारक मॉडल की तर्ज पर कांग्रेस अब संगठन को मजबूत करने के लिए 'प्रेरक मॉडल' का सहारा ले रही है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Goverdhan Chaudhary | News18 Rajasthan
Updated: September 8, 2019, 4:57 PM IST
जयपुर.  कांग्रेस (Congress) अब अपने संगठन को मजबूत (Strength) करने के लिए बीजेपी के मॉडल (BJP model)  को अपनाकर उसे टक्कर देने की कवायद (Efforts) में जुट गई है. बीजेपी के विस्तारक मॉडल (Expander model) की तर्ज पर कांग्रेस अब संगठन को मजबूत करने के लिए 'प्रेरक मॉडल' (Motivational model) का सहारा ले रही है. कांग्रेस ​ने लगातार हार के बाद संगठन को मजूबत करके कैडर तैयार करने का फैसला किया है.

सक्रिय कार्यकर्ताओं को ही ट्रेंड करके उन्हें प्रेरक लगाया जाएगा
कांग्रेस मास बेस पार्टी है, लेकिन साथ ही इसे कैडर बेस बनाने पर लंबे समय से चर्चा चल रही है. इसको लेकर अब तक यह कवायद सिरे नहीं चढ़ पाई है. अब पार्टी में फिर कैडर बनाने के लिए टास्क दिए जा रहे हैं. कैडर बनाने की शुरुआत प्रेरक लगाकर की जा रही है. कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ताओं को ही ट्रेंड करके उन्हें प्रेरक लगाया जाएगा. ये प्रेरक पार्टी के लिए कैडर तैयार करने के साथ साथ कार्यकर्ताओं को पार्टी की विचारधारा से लेकर जनाधार बढ़ाने और बूथ मैनेजमेंट तक की ट्रेनिंग देंगे.

14 बिंदुओं पर कार्यकर्ताओं को ट्रेंड किया जाएगा

कांग्रेस ने विधानसभा और लोकसभा चुनावों से पहले भी राजधानी जयपुर में ट्रेनिंग कैंप कर कार्यकर्ताओं को बूथ मैनेजमेंट के गुर सिखाए थे. अब संगठन को मजबूत करने के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम तैयार किया गया है. इसके तहत 14 बिंदुओं पर कार्यकर्ताओं को ट्रेंड किया जाएगा. इसमें कांग्रेस की विचारधारा से लेकर समाज में पैठ बनाने, वोटर्स को पार्टी से जोड़ने और बूथ मैनेजमेंट तक की ट्रेनिंग शामिल है.

सभी राज्यों के नेताओं को इसका टास्क दिया गया है
पिछले दिनों दिल्ली में हुई बैठक में राजस्थान सहित सभी राज्यों के नेताओं को इसका टास्क दिया गया है. जल्द ही प्रदेश, जिला और ब्लॉक लेवल पर कार्यकर्ताओं के लिए ट्रेनिंग कैंप लगाए जाएंगे. कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रेरक बनाकर उन्हें संगठन के विस्तार में लगाया जाएगा. ये प्रेरक कितने सफल साबित होंगे ये तो निकाय चुनाव और पंचायतराज चुनाव के नतीजों से ही पता चल पाएगा.
Loading...

जल्द ही ट्रेनिंग प्रोग्राम को अंतिम रूप दिया जाए
कांग्रेस ट्रेनिंग प्रोग्राम के संयोजक सुरेश चौधरी का कहना है कि पार्टी को मास बेस के साथ कैडर बेस बनाने के लिए काम हाथ में लिया है. कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रदेश से लेकर बलॉक तक ट्रेनिंग के निर्देश दिए हैं. जल्द ही ट्रेनिंग प्रोग्राम को अंतिम रूप दिया जाएगा.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इन 14 बिदुओं पर दी जाएगी ट्रैनिंग

- कांग्रेस का इतिहास
- गांधीवादी विचारधारा
- रचनात्मक सामाजिक कार्यों के जरिए समाज का विश्वास अर्जित करना
- संगठन कौशल और चुनाव में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भूमिका
- मौजूदा राजनीतिक चुनौतियां
- मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य और कार्यकर्ता की भूमिका
- सांप्रदायिक संगठन देश के लिए खतरा, युवा आंदोलन और देश के निर्माण में युवाओं की भूमिका
- महिला सशक्तिकरण और पंचायतीराज

निकाय चुनाव: 18 सितंबर को निकाली जाएगी आरक्षण लॉटरी, ये रहा शेड्यूल

बहरोड़ थाने पर AK-47 से हमले की साजिश थाने की एक कोठरी में ही रची गई थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 4:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...