• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान के सभी जिलों में होंगे कांग्रेस के अपने भवन ! जानिये क्या है पार्टी की पूरी योजना

राजस्थान के सभी जिलों में होंगे कांग्रेस के अपने भवन ! जानिये क्या है पार्टी की पूरी योजना

सबसे पुरानी पार्टी होने के साथ ही कांग्रेस राजस्थान में लम्बे समय तक सत्ता में भी रही है. लेकिन इसके बावजूद अभी तक ज्यादातर जिलों में 
उसके अपने भवन नहीं है.

सबसे पुरानी पार्टी होने के साथ ही कांग्रेस राजस्थान में लम्बे समय तक सत्ता में भी रही है. लेकिन इसके बावजूद अभी तक ज्यादातर जिलों में उसके अपने भवन नहीं है.

Rajasthan Congress: कांंग्रेस पार्टी ने एक बार फिर से राजस्थान के सभी जिलों में अपनी पार्टी के कार्यालय के लिये खुद के भवन बनाने की कवायद शुरू कर दी है. इसके लिये पार्टी के पदाधिकारियों को जमीन चिन्हित करने के निर्देश दिये गये हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस (Rajasthan Congress) में एक बार फिर से सभी जिलों में अपनी पार्टी का भवन बनाने की कवायद की जा रही है. हाल ही में प्रदेश प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) की मौजूदगी में हुई बैठक में पार्टी पदाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे जब भी अपने प्रभार वाले जिले में जाएं तो पार्टी कार्यालय के लिए जमीन चिन्हीकरण का काम भी करें. अभी तक प्रदेश के ज्यादातर जिलों में कांग्रेस कार्यालय किराए के भवन या निजी भवन में ही संचालित हो रहे हैं. केवल गिने-चुने जिले ही ऐसे हैं जहां पार्टी के खुद के भवन हैं. कुछ महीनों पहले पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष पवन बंसल जब जयपुर आए थे तो पार्टी की सम्पत्तियों की जानकारी जुटाकर ले गए थे.

इस दौरान पवन बंसल ने कहा था कि जल्द ही पार्टी सभी जिलों में अपने खुद के भवन बनाएगी. अब उस मुहीम पर काम शुरू हो चुका है. प्रदेश में जिन जिलों में पार्टी के पास स्वयं की मौके पर जमीन नहीं है वहां जमीन खरीद कर या आवंटित करवाकर पार्टी भवन का निर्माण कराया जायेगा. इस मुहिम के तहत जयपुर में भी पार्टी ने नए प्रदेश कार्यालय की कवायद भी हो रही है और इसके लिए विवेकानन्द मार्ग पर जमीन भी चिन्हित की जा चुकी है.

सत्ता में रहते उपेक्षा का नतीजा
दरअसल सबसे पुरानी पार्टी होने के साथ ही कांग्रेस प्रदेश में लम्बे समय तक सत्ता में भी रही है. लेकिन बावजूद इसके अभी तक पार्टी के ज्यादातर जिलों में अपने भवन नहीं है. पार्टी के सत्ता में रहने के दौरान संगठन के प्रति उपेक्षा का यह नतीजा है कि पार्टी जिलों में खुद के भवन नहीं बना पाई. दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी संगठन को लेकर सक्रिय रही और पार्टी के ज्यादातर जिलों में अपने भवन बनकर तैयार हो चुके हैं.

इस बार भी ढाई साल का समय बीत गया है
कांग्रेस में पार्टी के अपने भवनों के साथ ही नए प्रदेश कार्यालय को लेकर बातें लम्बे समय से चल रही है लेकिन नतीजा अभी तक सिफर है. अब एक बार फिर से इसे लेकर कवायद शुरू की गई है. प्रदेश में मौजूदा कांग्रेस सरकार का आधे से ज्यादा कार्यकाल पूरा हो चुका है और इस बार भी लेटलतीफी रही है तो पार्टी के जिलों में अपने कार्यालयों का सपना अधूरा ही रहेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज