ब्रिटेन में कंजर्वेटिव पार्टी की शानदार जीत, लंदन में भारतीयों ने जमकर मनाया जश्न

EU से बाहर निकलेगा ब्रिटेन, ब्रेग्जिट विधेयक को ब्रिटिश संसद की मिली मंजूरी.
EU से बाहर निकलेगा ब्रिटेन, ब्रेग्जिट विधेयक को ब्रिटिश संसद की मिली मंजूरी.

ब्रिटेन के आम चुनाव (UK Elections) में कंजर्वेटिव पार्टी (Conservative Party) की ऐतिहासिक और शानदार जीत से ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Prime Minister Boris Johnson) समेत पार्टी के नेता तो गद्गद हैं ही, इस जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले ब्रिटिश भारतीय (British indian) भी फूले नहीं समा रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. ब्रिटेन के आम चुनाव (UK Elections) में कंजर्वेटिव पार्टी (Conservative Party) की ऐतिहासिक और शानदार जीत से ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Prime Minister Boris Johnson) समेत पार्टी के नेता तो गद्गद हैं ही, इस जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले ब्रिटिश भारतीय (British indian) भी फूले नहीं समा रहे हैं. वजह है कश्मीर के मुद्दे (Kashmir issues) पर लेबर पार्टी (Labor party) का पाकिस्तान (Pakistan) के पक्ष में खड़ा होना और प्रतिक्रिया में भारतीय मतदाताओं द्वारा लेबर पार्टी को सबक सीखने में मिली कामयाबी.

कंजर्वेटिव पार्टी की जीत और लेबर की हार से खुश हैं भारतीय समुदाय
लंदन में शनिवार शाम को सजी कॉकटेल पार्टी की वजह कुछ और नहीं ब्रिटेन में हुए चुनावों में लेबर पार्टी की करारी हार और कंजर्वेटिव पार्टी की शानदार जीत थी. पार्टी का आयोजन ब्रिटेन में रहने वाले भारतीयों ने किया.

चौथी बार सांसद बने बॉब ब्लैकमैन को मंत्री बनाने की उठी मांग
आयोजन में शरीक हुए नागौर जिले के मोर्रा-मेड़ता से जाकर लंदन में बतौर प्रोफेसर सेवा देने वाले हरेंद्र सिंह जोधा ने बताया कि हैरो ईस्ट से चौथी बार सांसद बने बॉब ब्लैकमैन इस चुनाव में भारतीयों के सहयोग से इस कदर अभिभूत हैं कि देर शाम तक चली पार्टी में डटे रहे. यही नहीं उन्होंने जल्द ही राजस्थान आने और भारत के साथ रिश्तों को और प्रगाढ़ बनाने की योजना भी साफ कर दी. बॉब भारतीयों के भरपूर सहयोग के बूते इस बार आठ हजार वोटों से जीते हैं, जबकि पिछले चुनाव में वे महज 1700 वोटों से जीत पाए थे. बॉब अब ब्रिटेन के वरिष्ठ सांसदों में से एक हैं और उनको मंत्री बनाने की पुरजोर मांग राजस्थानी समाज से उठ रही है.



ब्रिटेन की राजनीति में छाए भारतीय मतदाता
अब तक भारतीय मूल के ब्रिटिश मतदाता विचारधारा के आधार पर अलग अलग दलों का समर्थन करते रहे हैं. यह पहला मौका है जब कश्मीर के मुद्दे पर लेबर पार्टी के रुझान से नाराज भारतीय मतदाताओं ने उसे हराने और कंजर्वेटिव पार्टी को जीताने का फैसला लिया. भारतीय मतदाता अपने इस इरादे में कामयाब होकर पूरे ब्रिटेन की राजनीति में छा गए.

 

भविष्य के लिहाज से बड़ी कामयाबी
भारतीयों को लामबंद करने में आगे रहे ब्रिटेन में ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूके के अध्यक्ष कुलदीप सिंह शेखावत इसे भविष्य के लिहाज से बड़ी कामयाबी मान रहे हैं. सीकर जिले के श्रीमाधोपुर इलाके के पृथ्वीपुरा में जन्मे शेखावत इस कामयाबी के लिए सभी ब्रिटिश भारतीयों की एकजुटता को श्रेय दे रहे हैं.

 

भारत और ब्रिटेन की रिश्तों में और गर्माहट की उम्मीद
कंजर्वेटिव पार्टी की इस जीत के बाद ब्रिटिश नागरिक जहां ब्रेक्जिट के फैसले पर जल्द अमल की उम्मीद संजोए हुए हैं, वहीं ब्रिटिश भारतीयों को बोरिस जॉनसन के सत्ता में बरकरार रहने के बाद भारत और ब्रिटेन की रिश्तों में और गर्माहट की उम्मीद है.

कश्मीर मुद्दे पर एकजुट हुए भारतीय, कंजर्वेटिव पार्टी को दिलाई बड़ी जीत

वसुंधरा के मुकाबले भामाशाहों ने CM अशोक गहलोत के राज में दिया दोगुना दान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज