राजस्‍थान में 17 मई तक बढ़ा Corona Curfew, अब नियम हुए और भी सख्त, जानें डिटेल

राजस्‍थान में कोरोना कर्फ्यू बढ़ा दिया गया है साथ ही अब सख्ती बरती जाएगी. (सांकेतिक फोटो)

राजस्‍थान में कोरोना कर्फ्यू बढ़ा दिया गया है साथ ही अब सख्ती बरती जाएगी. (सांकेतिक फोटो)

बढ़ाई जाएगी सख्ती, बिना काम के सड़कों पर निकलने वालों पर होगी कार्रवाई, मौके पर ही Corona Test करवाने के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो 15 दिन के लिए किया जाएगा क्वारंटाइन.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान (Rajasthan) में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब राज्य सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है. इसी क्रम में अब राजस्‍थान सरकार ने कोरोना कर्फ्यू को 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. इसके साथ ही नियमों को और सख्त कर दिया गया है. अब यदि दोपहर में 12 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक यदि कोई बिना जरूरी काम के सड़क पर दिखाई देता है तो उसका मौके पर ही कोरोना टेस्ट किया जाएगा. यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उसे 15 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा. साथ्‍ज्ञ ही सभी ऑफिस, व्यावसायिक प्रतिष्ठान और बाजारों को बंद रखा जाएगा.

क्या खुलेगा और क्या बंद

इस दौरान सभी शैक्ष‌णिक संस्‍थान, कोचिंग इंस्टीट्यूट और पुस्कालय बंद रहेंगे. मेडिकल नर्सिंग कॉलेजों में पढ़ाई जारी रहेगी. ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी. बड़ा फैसला शादियों को लेकर किया गया है. शादी अब एक ही कार्यक्रम के तौर पर की जा सकेगी. वहीं प्रोसेस्ड फूड, मिठाई और रेस्‍त्रां खोलने की अनुमति नहीं होगी. केवल होम डिलीवरी रात 8 बजे तक की जा सकेगी. राशन की दुकानों को बिना किसी अवकाश के खोला जाएगा. इसके लिए भी तीन घंटे और 31 लोगों को समारोह में रहने की अनुमति होगी. हालांकि इस 31 की संख्या में बैंड बाजे और केटरिंग के लोगों को सम्मिलित नहीं किया गया है.

इस दौरान टीकाकरण के लिए जाने वाले लोगों को छूट होगी और वे टीकाकरण केंद्र तक आ जा सकेंगे. इसके लिए उन्हें रजिस्ट्रेशन और पहचान पत्र साथ रखना होगा. वहीं एक जिले से दूसरे जिले में निजी वाहन से यात्रा करने के लिए कोई मेडिकल इमरजेंसी होना जरूरी होगा.
सीएम ने कहा था मुश्किल में हैं हम

इससे पहले न्यूज 18 के साथ एक खास इंटरव्यू के दौरान सीएम अशोक गहलोत ने कहा था कि हम बहुत मुश्किल में हैं. सबसे बड़ी कठिनाई ऑक्सीजन की कमी है. मैंने तीन दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन किया था और उनसे राजस्थान के लिए अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए कहा था. कल, मैंने गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, पीएम के प्रधान सचिव पीके मिश्रा और कैबिनेट सचिव राजीव गौबा को फोन किया. मैंने उनसे कहा कि ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग मरेंगे और हमारे राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या 1.7 लाख है. हमारे राज्य में कोरोना संक्रमण की ग्रोथ रेट देश में सबसे अधिक है. हम सक्रिय केसों के मामले में अब शीर्ष पांच राज्यों में शामिल हैं. मैंने उनसे (प्रधानमंत्री और अन्य) कहा कि हमें आपके फॉर्मूले के अनुसार ऑक्सीजन मिलना चाहिए. हम गहरे संकट में हैं क्योंकि हम बहुत कम ऑक्सीजन पा रहे हैं. हमें पर्याप्त रेमडेसिविर भी नहीं मिल रहे हैं क्योंकि हमें अपने सक्रिय मामलों के लिए केवल 30 हजार इंजेक्शन मिल रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज