कोरोना ने लंबा किया हज का इंतजार, 500 आवेदकों ने कहा पैसा वापस करो 'सरकार'
Jaipur News in Hindi

कोरोना ने लंबा किया हज का इंतजार, 500 आवेदकों ने कहा पैसा वापस करो 'सरकार'
इस साल हज यात्रा को लेकर संशय की स्थिति है. (फाइल फोटो)

इस साल अभी तक यह भी तय नहीं हुआ है इस साल हज यात्रा होगी या नहीं. कोरोना वायरस के कारण आए संकट ने हज यात्रियों का इंतजार लंबा कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. हज यात्रा 2020 को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है. जून के अंतिम सप्ताह तक जहां हज यात्रा की तमाम तैयारियां पूरी हो जाया करती थीं. वहीं इस साल अभी तक यह भी तय नहीं हुआ है इस साल हज यात्रा होगी या नहीं. कोरोना वायरस के कारण आए संकट ने हज यात्रियों का इंतजार लंबा कर दिया है. लगातार अनिश्चितता के इस माहौल में अब चयनित हज आवेदक हज यात्रा के लिए ऑनलाइन कैंसिलेशन फॉर्म भरने लगे हैं. वे सरकार से जमा की गई राशि वापस मांग रहे हैं.

राजस्थान में चयनित करीब 5350 लोगों में से 500 लोगों ने कैंसिलेशन का फॉर्म भर दिया है. राजस्थान के 5 हजार 350 चयनित हज आवेदक हज की पहली और दूसरी किस्त के रूप में 1 लाख 60 हज़ार जमा करा चुके थे. इस तरह करीब साढ़े 8 करोड़ रुपए प्रदेश के हज आवेदकों के हज कमेटी के पास जमा हैं. अब कैंसिलेशन फॉर्म भरने पर हज कमेटी का कहना है 15 दिवस में हज आवेदकों का पूरा पैसा उनके खातों में वापस ट्रांसफर कर दिया जाएगा. इस बार कैंसिलेशन की कोई फीस नहीं ली जाएगी.

..तो कर सकते हैं इंतजार
राजस्थान हज कमेटी के एग्जीक्यूटिव ऑफिसर महमूद खान ने बताया कि सेंट्रल हज कमेटी जैसे ही मामले में कोई फैसला करती है और उसकी घोषणा करती है वह तुरंत प्रदेश के सभी हज आवेदकों को बता दिया जाएगा, जो लोग इंतजार करना चाहते हैं वह इंतजार कर सकते हैं और जो लोग अपना पैसा वापस आते हैं, वह पैसा भी कैंसिलेशन करा कर वापस ले सकते हैं. हालांकि केंद्रीय हज कमेटी ने जब कैंसिलेशन का विकल्प दिया तो शुरू में लोगों ने इस तरह बिल्कुल भी रुझान नहीं दिखाया था, लेकिन धीरे-धीरे अब लोग कैंसिलेशन का रुख करने लगे हैं.
उम्मीद अब भी बाकी


राजस्थान हज वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष हाजी निज़ामुद्दीन का कहना है कि हज यात्रा में नम्बर आना लोगों के ऐसा होता है, जैसे मन्नतें पूरी हो जाना. ऐसे में इसे कैंसिल करने फ़ैसला सलेक्टेड कैंडिडेट्स के लिए कोई आसान फैसला नहीं होता है. ज़्यादातर लोग मजबूरी में ऐसा कर रहे हैं. बहुत से लोगों के आवेदन करते समय और लॉकडाउन के बाद अब आर्थिक हालात बहुत बदल गए हैं, लेकिन अभी भी 5350 में से 4850 लोग ऐसे हैं, जो उम्मीद लगाए बैठे हैं कि किसी तरह उनका हज मुकम्मल हो जाये.

ये भी पढ़ें:
MP वेयर हाउस घोटाला: पूर्व की कमलनाथ सरकार पर लगे गंभीर आरोप, जांच के निर्देश

PM नरेन्द्र मोदी को CM अशोक गहलोत ने लिखा खत, कहा- बेरोजगारी से बचाने करें ये काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading