Home /News /rajasthan /

Rajasthan: स्कूली बच्चों पर कोरोना का खतरा, शिक्षा विभाग हुआ सक्रिय, जल्द हो सकता है नया फैसला

Rajasthan: स्कूली बच्चों पर कोरोना का खतरा, शिक्षा विभाग हुआ सक्रिय, जल्द हो सकता है नया फैसला

शिक्षा विभाग की बैठक में जयपुर सीएमएचओ बोले यह लहर नहीं है. कोविड प्रोटोकॉल की लापरवाही है.

शिक्षा विभाग की बैठक में जयपुर सीएमएचओ बोले यह लहर नहीं है. कोविड प्रोटोकॉल की लापरवाही है.

Corona Returns in Rajasthan: राजस्थान में स्कूली बच्चों पर मंडरा रहे कोरोना के खतरे को देखते हुये शिक्षा विभाग फिर से सक्रिय हो गया है. इसको लेकर आज शिक्षा विभाग की अहम बैठक हुई. शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कहा है कि फिलहाल ऑफलाइन या ऑनलाइन कक्षाओं पर चर्चा हुई हैं. निर्णय जल्द घोषित कर दिया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राजस्थान दुबारा स्कूली बच्चों पर कोरोना (Corona) का खतरा मंडरा रहा है. राजधानी जयपुर के निजी स्कूलों में कोविड केसेज मिलने के बाद अभिभावकों में चिंता बढी हुई है. पैरेंट्स ऑनलाइन कक्षाएं (Online classes) शुरू करने की मांग कर रहे हैं जबकि दूसरी ओर स्कूल संचालक इससे सहमत नहीं हैं. शिक्षा विभाग भी आज हुई बैठक में कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई गई. बैठक में शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कोविड मामलों को गंभीरता से लेते हुये पूरा फीडबैक लिया. शिक्षा विभाग की बैठक की रिपोर्ट को चिकित्सा विभाग और गृह विभाग के साथ शेयर किया जाएगा.

शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने कहा कि कोविड के जो भी मामले आये हैं वो निजी स्कूलों में हैं. फिलहाल सरकारी स्कूलों में बच्चों का बचाव है. विभागों से चर्चा करने के बाद ही इस पर कोई निर्णय लिया जा सकेगा. शिक्षा मंत्री ने तमाम निजी सरकारी स्कूलों को अपील करते हुए कहा कि कोविड गाइड लाइन की सख्ती से पालना करें. इसे लेकर कोई चूक नहीं हो. फिलहाल ऑफलाइन या ऑनलाइन कक्षाओं पर चर्चा हुई हैं. निर्णय जल्द घोषित कर दिया जाएगा.

Rajasthan: भांजे का मायरा भरने के लिये 2 बोरों में पैसे भरकर पहुंचे 3 मामा, नोट गिनने में लगे कई घंटे

सीएमएचओ बोले यह लहर नहीं है कोविड प्रोटोकॉल की लापरवाही है
इस बैठक में जयपुर सीएमएचओ नरोत्तम शर्मा ने अपनी रिपोर्ट पेश की. सीएमएचओ का कहना था कि राजधानी की स्कूलों में कोविड के मामले सामने आए हैं. इनका समय रहते सावधानी बरतने से पता लगा है. लेकिन समय पर सावधानी रखते हुए विद्यार्थियों को क्वारंटाइन भी किया जाए. इससे बचाव किया जा सकता हैं. सीएमएचओ के मुताबिक यह लहर नहीं है. कोविड प्रोटोकॉल की लापरवाही है.

गहलोत के मंत्री राजेंद्र गुढ़ा इंजीनियर से बोले- सड़क कैटरीना कैफ के गालों जैसी बननी चाहिए

22 दिनों में राजस्थान में 19 बच्चे कोविड पॉजिटिव हुये
उल्लेखनीय है कि राजस्थान में एक बार फिर से कोरोना दस्तक दे रहा है. इस बार स्कूली बच्चे कोविड के निशाने पर हैं. बीते 22 दिनों में राजस्थान में 19 बच्चे कोविड पॉजिटिव हो गए हैं. अकेले जयपुर की एक स्कूल में 12 बच्चे कोविड की चपेट में आ जाने के बाद अभिभावकों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच आई हैं. राजस्थान में 15 नवंबर से ही स्कूलों को सौ प्रतिशत क्षमता के साथ शुरू किया गया था. इसी के साथ ज्यादातर शैक्षणिक संस्थाओं ने अपनी ऑनलाइन कक्षाएं भी बंद कर दी.

Rajasthan: पुलिसकर्मियों ने थाने के कुक के बेटे-बेटी की शादी में भरा 5.21 लाख रुपये का मायरा

अभिभावकों ने कहा ऑनलाइन ही कक्षाएं लगाने की जरूरत
अभी एक सप्ताह ही बीता था कि कोरोना के मामले फिर सामने आने लगे. अभिभावकों का कहना है कि स्कूल संचालकों का दबाव बढ़ रहा है कि वे बच्चों को स्कूलों में भेजे. जबकि इस समय में केवल ऑनलाइन ही कक्षाएं लगाने की जरूरत है. वहीं दूसरी ओर निजी स्कूल संचालक दोबारा ऑनलाइन कक्षाओं के लिए सहमत नजर नहीं आ रहे हैं.

स्कूल संचालक बोले यूं तो पढ़ाई होगी ही नहीं
स्कूल संचालकों का कहना है कि केवल जहां कोरोना के मामले सामने आये हैं वहीं पर ऑनलाइन कक्षायें चलाई जानी चाहिये. अन्यथा बाकी स्कूलों में इससे पढ़ाई का और नुकसान होगा. स्कूल संचालकों का कहना है कि कोविड की पालना पर जोर देना चाहिए. इस तरह से तो पढ़ाई कराई ही नहीं जा सकेगी. स्कूल संचालक इसे विद्यार्थियों के भीड़भाड़ में जाने को भी जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

Tags: Corona Update, Corona Update News, Rajasthan latest news, Rajasthan News Update

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर