लाइव टीवी

Corona virus warrior: महीनों से दिन रात एक किए हुए हैं ACS रोहित कुमार सिंह
Jaipur News in Hindi

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 28, 2020, 6:22 PM IST
Corona virus warrior: महीनों से दिन रात एक किए हुए हैं ACS रोहित कुमार सिंह
सिंह का शांत और सौम्य स्वभाव ही उन्हें पूरी टीम का चहेता बनाए हुए है.

वैश्विक स्तर पर फैली कोरोना वायरस (COVID-19) की महामारी से मुकाबला करने के लिए दुनियाभर में हर मुमकिन कवायद की जा रही है. प्रदेश में इस बीमारी का मुकाबला करने में जुटी टीम की अगुवाई कर रहे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एसीएस रोहित कुमार सिंह (ACS Rohit Kumar Singh) पूरी शिद्दत के साथ महीनों से इसमें दिन रात एक किए हुए हैं.

  • Share this:
जयपुर. वैश्विक स्तर पर फैली कोरोना वायरस (COVID-19) की महामारी से मुकाबला करने के लिए दुनियाभर में हर मुमकिन कवायद की जा रही है. भारत समेत कई देशों ने इसके संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) कर रखा है. भारत में भी केन्द्र और राज्य सरकारें एकजुट होकर इस महामारी का मुकाबला कर रही हैं. राजस्थान में इस महामारी के 52 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. राज्य सरकार एहतियात के हर मुमकिन कदम उठा रही है. प्रदेश में इस बीमारी का मुकाबला करने में जुटी टीम की अगुवाई कर रहे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एसीएस रोहित कुमार सिंह (ACS Rohit Kumar Singh) पूरी शिद्दत के साथ महीनों से इसमें दिन रात एक किए हुए हैं.

पहला केस आने के साथ ही प्रदेश में अलर्ट जारी कराया
सिंह ने कोरोना वायरस का चीन में का पहला केस आने के साथ ही प्रदेश में अलर्ट जारी कराया और इसका मुकाबला करने के लिए रणनीति बनाने में जुट गए. सिंह ने चिकित्सकों से पहले इसे समझा और फिर इससे लड़ने के लिए पुख्ता रणनीति की तैयार की. प्रदेश की राजधानी जयपुर में स्थित सवाई मानसिंह अस्पताल में कोरोना जांच के लिए केन्द्र से अनुमति ली. इसी का नतीजा रहा कि देश में चुनिंदा चिकित्सा संस्थानों में जांच की सुविधा की सूची में एसएमएस अस्पताल भी शामिल हो पाया.

केन्द्र सरकार को अपडेट किया और हर जरुरत को पूरा करवाया



यह सिंह की मेहनत और दूरदर्शिता का ही नतीजा रहा कि समय रहते हुए इस महामारी को रोकने के लिए कदम उठाए जा सके. प्रदेश में जब इटली के 23 सदस्यीय दल में शामिल 69 वर्षीय पर्यटक एंड्री कार्ली पहले पॉजिटिव केस के रूप में सामने आया तो तुरंत उसकी जांच के बाद उसकी पत्नी और उनके संपर्क में आए 6 जिलों में तत्काल रेपिड रेस्पांस टीमों का गठन कर उन्हें रवाना किया. सभी छह जिलों बीकानेर, झुंझुनूं, जैसलमेर, जोधपुर, उदयपुर और जयपुर में सघन अभियान चलवाकर लोगों की स्क्रीनिंग करवाई. केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव के साथ रोजाना वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए केन्द्र सरकार को अपडेट किया और हर जरुरत को पूरा करवाया.



सीएम के साथ दिन रात बैठकें कर उन्हें अपडेट किया
एसएमएस मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर्स के द्वारा कोरोना पीडितों के इलाज के लिए एचआईवी, स्वाइन फ्लू और मलेरिया की दवा के प्रोटोकॉल की अनुमति ली गई. आईसीएमआर और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को इस प्रोटोकॉल की जानकारी देकर इलाज शुरू कराया. इसका नतीजा यह रहा कि जयपुर में कोरोना पॉजिटिव ठीक हुए और उन्हें कोरोना 'फ्री' होने की एनओसी मिल सकी. सिंह ने सीएम अशोक गहलोत और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा के साथ दिन रात बैठकें कर उन्हें अपडेट किया.

Corona virus warrior: महीनों से दिन रात एक किए हुए हैं ACS रोहित कुमार सिंह Corona virus warrior: ACS Rohit Kumar Singh has been united day and night for months
सिंह ने प्रदेश में आमजन के लिए एडवाइजरी जारी करवाई.


आमजन के लिए एडवाइजरी जारी करवाई
आशा वर्कर्स और जिलों के चिकित्सकों के लिए जयपुर में कोरोना वायरस की ट्रेनिंग शुरू करवाई. किस तरह से सर्वे के कार्य होंगे, कैसे मरीज का जिले के अस्पतालों में सेम्पल लिया जाएगा और किस प्रकार से उसे भिजवाया जाएगा और आइसोलेट करते हुए इलाज शुरू किया जाएगा इसकी पूरी रणनीति बनाई. प्रदेश में आमजन के लिए एडवाइजरी जारी करवाई. इसके साथ ही राजस्थान एपिडिमिक एक्ट के तहत कोविड-19 रेगुलेशन्स जारी किए ताकि लोग सोशल मीडिया पर अफवाहें न फैलाएं.

कलक्टर, सीएमएचओ और पुलिस को अधिकार दिए
कोई व्यक्ति यदि जांच या इलाज में सहयोग न करे तो उस स्थिति को कंट्रोल करने के लिए जिला कलक्टर, सीएमएचओ और पुलिस को अधिकार दिए. झुंझुनूं में एक ही परिवार में और भीलवाड़ा में बांगड अस्पताल में एक साथ चिकित्सकों और स्टाफ के बड़ी संख्या में पॉजिटिव सामने आने पर तत्काल कर्फ्यू लगवाया. स्वास्थ टीमों का गठन कर उन्हें रातों-रात रवाना किया और पूरे शहर में डोर-टू-डोर सर्वे शुरू करवाया. प्रदेश में वॉर रूम की स्थापना स्टेट इन्स्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एण्ड फेमिली वेलफेयर में की गई. इसकी अध्यक्षता खुद एसीएस रोहित कुमार सिंह ही कर रहे हैं. उनके अधीन 9 IAS और 12 RAS अधिकारी लगाए गए हैं जो राउण्ड दी क्लॉक पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं.

अनुभवी, सहज और सरल स्वभाव
प्रतिदिन मीडिया से इन्टरेक्शन कर उनके सवालों के जवाब और आमजन को होने वाली परेशानी को दूर करने में भी रोहित कुमार सिंह कहीं पीछे नहीं हैं. उनका शांत और सौम्य स्वभाव ही उन्हें पूरी टीम का चहेता बनाए हुए है. छोटे से छोटे हेल्थ वर्कर से लेकर सीएम और चिकित्सा मंत्री तक के साथ वे एकसा व्यवहार करते दिखाई पड़ते हैं. इतने अनुभवी, सहज और सरल स्वभाव के कारण ही आज प्रदेश में कोरोना वायरस की जंग सुनियोजित तरीके से लड़ी जा रही है.

COVID-19: आसाराम और महिपाल मदेरणा को रिहाई दिलाएगा कोरोना वायरस !

COVID: अजमेर में युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव, क्लॉक टावर क्षेत्र में लगाया कर्फ्यू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 28, 2020, 6:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading