अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: सीएम गहलोत ने माना कि पंचायत चुनाव में नहीं हुई कोरोना प्रोटोकॉल की पालना

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ रहा है. जरा सी लापरवाही खुद के साथ ही दूसरों के लिये भी जानलेवा हो सकती है.
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ रहा है. जरा सी लापरवाही खुद के साथ ही दूसरों के लिये भी जानलेवा हो सकती है.

राजस्थान में बेहताशा बढ़ रहे कोरोना संक्रमण (COVID-19) के बीच सीएम अशोक गहलोत ने स्वीकार किया है कि प्रदेश में पंचायत चुनाव के समय कोरोना प्रोटोकॉल (Corona protocol) की समुचित पालना नहीं हो पाई.

  • Share this:
जयपुर. सीएम अशोक गहलेात (CM Ashok Gehlet) ने माना है कि प्रदेश में पंचायतीराज चुनावों में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) की पालना नहीं की गई. सीएम गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार और राज्य निर्वाचन आयोग (State election commission) की सख्त हिदायत के बावजूद प्रचार के दौरान मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल की उचित पालना नहीं हो पाई.

सीएम गहलोत ने सोमवार शाम को जयपुर में आयोजित कोरोना समीक्षा बैठक में कहा कि राज्य सरकार को इस बात का एहसास है कि प्रदेश में संक्रमण के बढ़ने के पीछे कई कारण हैं. इनमें त्यौहारी सीजन के दौरान बाजारों में उमड़ी भीड़, बढ़ती सर्दी और वैवाहिक कार्यक्रमों में अधिक संख्या में लोगों की उपस्थिति के साथ-साथ नगरीय-निकाय और पंचायत चुनावों के प्रचार में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं होना भी है. सीएम ने कहा कि न्यायिक बाधा और संवैधानिक प्रावधानों के कारण सरकार ने निकाय और पंचायत चुनाव कराए. राज्य सरकार और राज्य निर्वाचन आयोग की सख्त हिदायत के बावजूद प्रचार के दौरान मास्क लगाने और डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल की उचित पालना नहीं हो पाई.

Rajasthan: प्रदेश में सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों के लगेगा कोरोना का टीका, सीएम गहलोत ने दिये निर्देश

जरा सी लापरवाही जानलेवा हो सकती है


सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ रहा है. जरा सी लापरवाही खुद के साथ ही दूसरों के लिये भी जानलेवा हो सकती है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने संक्रमण पर नियंत्रण के लिए जनहित में कड़े फैसले लिए हैं. प्रदेश के आठ जिला मुख्यालयों पर नगरीय क्षेत्र में नाइट कर्फ्यू, शाम 7 बजे बाद बाजार बंद कराने, विवाह समारोह में 100 से अधिक लोगों के इकटठा होने और मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना बढ़ाने जैसे फैसले जीवन की रक्षा के लिए जरूरी हैं.

ये कोरोना की प्रदेश में दूसरी पीक है
कोरोना संक्रमण के इस दौर में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि राजस्थान में कोरोना की दूसरी पीक 15 दिसंबर से पहले कभी भी आ सकती है. आज प्रदेश में औसतन 3000 से ज्यादा पॉजिटिव केस प्रतिदिन आ रहे हैं. ये कोरोना की प्रदेश में दूसरी पीक है. उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे इस समय बिल्कुल भी असावधानी ना बरतें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज