Rajasthan: बढ़ती महंगाई से त्रस्त आम आदमी को मिलेगा 'हाथ' का साथ, सोशल मीडिया पर चलाएंगे कैंपेन

महंगाई के खिलाफ कांग्रेस सोशल मीडिया पर चलाएगी कैंपेन.

महंगाई के खिलाफ कांग्रेस सोशल मीडिया पर चलाएगी कैंपेन.

पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने कहा कि कांग्रेस महंगाई से त्रस्त आम आदमी की आवाज उठाएगी और सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर केन्द्र सरकार को घेरने का प्रयास होगा. 

  • Share this:

जयपुर. बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेस द्वारा केन्द्र सरकार पर हल्ला बोल की तैयारी है. कोरोना के खतरे को देखते हुए इस  बार सोशल मीडिया के जरिए अभियान चलाकर कांग्रेस (Congress) केन्द्र सरकार को घेरने का प्रयास करेगी. इस अभियान को लेकर प्रदेश कांग्रेस तैयारियों में जुटी है. बताया जा रहा है कि इस सम्बन्ध में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा सभी राज्यों को निर्देश जारी किए गए हैं. पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए बढ़ती महंगाई पर केन्द्र सरकार पर हमला बोला. डोटासरा ने कहा कि क्रूड ऑयल की कीमतें कम होने के बावजूद पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं. हर वर्ग पर महंगाई की मार पड़ रही है और पूरा देश इससे खफा है. उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए पूछा कि जो लोग पहले महंगाई को लेकर प्रदर्शन किया करते थे आज वो चुप क्यों हैं?

सोशल मीडिया पर अंकुश क्यों?

डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस महंगाई से त्रस्त आम आदमी की आवाज उठाएगी और सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर केन्द्र सरकार को घेरने का प्रयास होगा. उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि जो लोग सोशल मीडिया के जरिए सत्ता में आए वही लोग अब सोशल मीडिया पर अंकुश लगाने का प्रयास कर रहे हैं. लेकिन कांग्रेस इसी सोशल मीडिया के जरिए केन्द्र सरकार का चेहरा बेनकाब करेगी. गौरतलब है कि महंगाई गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों से सीधा ताल्लुक रखती है और राजनीतिक दल इसे लेकर समय-समय पर मुद्दा बनाते रहे हैं. अब देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस एक बार फिर से इस मुद्दे को उठाकर आम लोगों का विश्वास जीतने की कोशिश करेगी.

संकट में साथ देना राजा का कर्तव्य
उधर, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी महंगाई के मसले पर केन्द्र पर हमला बोला. खाचरियावास ने कहा कि यूपीए शासन में पेट्रोल-डीजल पर 9 रुपए एक्साइज ड्यूटी हुआ करती थी जो अब बढ़ाकर करीब 35 रुपए कर दी गई है. यही वजह है कि लोगों को पेट्रोल-डीजल महंगा मिल रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार और राजा का कर्तव्य होता है कि संकट में लोगों का साथ दे और खजाना खोल दे. लेकिन यहां तो केन्द्र सरकार अपना खजाना भरने में लगी हुई है. उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है लेकिन केन्द्र सरकार इससे कोई इत्तेफाक नहीं रखती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज