राजस्थान में तंबाकू उत्पादों की कालाबाजारी को लेकर 10 शहरों में छापे, 2 दर्जन ठिकानों की जांच
Ajmer News in Hindi

राजस्थान में तंबाकू उत्पादों की कालाबाजारी को लेकर 10 शहरों में छापे, 2 दर्जन ठिकानों की जांच
राजस्थान में तंबाकू उत्पादों की कालाबाजारी की शिकायत पर छापेमारी.

कोरोना (COVID-19) संकट के बीच राजस्थान में तंबाकू उत्पादों की कालाबाजारी की शिकायतों को लेकर वाणिज्यकर विभाग ने 10 शहरों में दो दर्जन व्यापारियों के ठिकानों पर छापेमारी की.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना वायरस के (COVID-19) संक्रमण के कारण लॉकडाउन (lockdown) अवधि में भी कारोबारी विभिन्न उत्पादों की कालाबाजारी से बाज नहीं आ रहे. राजस्थान में तंबाकू उत्पादों, पान मसाला, गुटखा आदि को ऊंचे दामों पर बेचने की शिकायतें प्रदेश के कई स्थानों से आ रही है. इसके मद्देनजर रविवार को वाणिज्यकर विभाग ने प्रदेश के 10 शहरों में दो दर्जन से ज्यादा व्यापारियों के ठिकानों पर छापेमारी की. इन व्यापारियों में गुटखा, तंबाकू और पान मसाला डीलर शामिल हैं. बताया जा रहा है कि विभाग की प्रदेशभर में की गई इस कार्रवाई से बड़े पैमाने पर राजस्व चोरी की शिकायतों का खुलासा हो सकता है.

जयपुर सहित कई शहरों में पड़े छापे

वाणिज्यकर विभाग ने जिन शहरों में तंबाकू उत्पादों की कालाबाजारी को लेकर छापेमारी की है, उनमें राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित कई शहर शामिल हैं. विभाग ने जयपुर के अलावा जोधपुर, कोटा, अलवर, अजमेर, सीकर, उदयपुर,हिंडौन, रानावाड़ा, आबूरोड सहित अलग-अलग शहरों में गुटखा, पान मसाला और तंबाकू डीलरों के दो दर्जन ठिकानों पर छापे की कार्रवाई की. विभाग के 100 से ज्यादा अधिकारियों और कर्मचारियों की टीमें व्यापारियों के घर, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, गोदामों पर जांच में जुटी है.



लॉकडाउन का फायदा उठाने की शिकायत
वाणिज्यकर विभाग को शिकायत मिली थी कि लॉकडाउन अवधि में परिवहन सेवा बंद होने के कारण पान मसाला, गुटखा और तंबाकू का परिवहन पूरी तरह से बंद हो गया. लेकिन डीलरों के पास जो स्टॉक मौजूद था, उस माल को ये डीलर मनमानी कीमतों पर बेच रहे हैं. व्यापारियों द्वारा बिना बिल के भारी मात्रा में राजस्व चोरी कर माल बेचने की भी शिकायत विभाग को मिली थी. इसके बाद वाणिज्यकर विभाग ने सभी प्रमुख तंबाकू, पान मसाला और गुटखा कंपनियों के डीलरों की जांच शुरू कर दी है. वाणिज्यकर आयुक्त प्रीतम बी. यशवंत के निर्देश पर वाणिज्यकर विभाग के अधिकारी-कर्मचारी व्यापारियों की दस्तावेजों, स्टॉक और रिकॉर्ड की जांच में जुट गए हैं.

 

ये भी पढ़ें-

राजस्थान में फिर बढ़ी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 80 नये मामले आए सामने

पेंशन की होम डिलीवरी: धौलपुर ने किया कमाल, 29 हजार लोगों को घर बैठे मिले पैसे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज